Ottis Gibson: Ball tampering row has shifted the focus from cricket
Ottis Gibson (File Photo) © Getty Images

केपटाउन टेस्‍ट के दौरान सामने आए बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद एक बार फिर ऑस्‍ट्रेलिया की टीम साउथ अफ्रीका का सामना करेगी। साउथ अफ्रीका तीन वनडे और एक टी-20 मैच खेलने के लिए ऑस्‍ट्रेलिया पहुंच गई है। साउथ अफ्रीका के कोच ओटिस गिब्‍सन का मानना है कि बॉल टेंपरिंग कांड के बाद लोगों के बीच ये मुद्दा इतना बड़ा हो गया कि इसके सामने खेल ही पीछे छूटने लगा है।

गिब्‍सन ने कहा, “हमारी टीम ऑस्‍ट्रेलिया में क्रिकेट खेलने के लिए आई है। ये बेहद दुख की बात है कि बॉल टेंपरिंग विवाद के बाद पैदा हुए माहौल में क्रिकेट पीछे छूटता नजर आ रहा है। जब मैं मार्च में हुई सीरीज को याद करता हूं तो मेरे सामने पहले टेस्‍ट मैच के दौरान मिशेल स्‍टार्क की गेंदबाजी आती है। उसने शानदार गेंदबाजी की। पोर्ट एलिजाबेथ में एबी डिविलियर्स ने भी शानदार शतक लगाया था।”

इस कांड को लेकर स्‍वतंत्र जांच में क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए गए हैं। इस बाबत रिपोर्ट सोमवार को जारी की गई। गिब्‍सन ने कहा, “पेशेवर क्रिकेट में हमें मैच जीतने और हर हाल में मैच जीतने के अंतर को समझना होगा। अंत में हमें क्रिकेट खेलना है। हमें खेल का सम्‍मान बनाए रखना होगा।”

गिब्‍सन ने कहा, “अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट मैच के दौरान हर तरफ कैमरे होते हैं। यहां तक की अब आईपीएल जैसे टूर्नामेंट में भी ठीक अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट की तर्ज पर ही कवरेज होती है। इतने कैमरों के सामने बॉल टेंपरिंग जैसी घटना को अंजाम देना बेहद बेवकूफी भरा काम है। हम यह मानते हैं कि ये नहीं होना चाहिए था।”

सीरीज के बारे में बताते हुए उन्‍होंने कहा, “साउथ अफ्रीका की टीम यहां काफी आक्रमक क्रिकेट खेलेगी। हम विश्‍व कप की अपनी तैयारियों को लेकर आधे रास्‍ते तक पहुंच गए हैं।”