our captain missed a trick quite a few times: Former Legends criticize Azhar Ali’s captaincy
अजहर अली (Twitter)

पूर्व पाकिस्तानी दिग्गज वसीम अकरम का कहना है कि इंग्लैंड के खिलाफ मैनचेस्टर टेस्ट में पाक कप्तान अजहर अली ने कई एक ही गलती कई बार की।

ओल्ड ट्रैफर्ड में खेले गए सीरीज के पहले टेस्ट मैच में 3 विकेट से मिली करारी हार के बाद पाक टीम, खासकर कप्तान अजहर को फैंस और पूर्व खिलाड़ियों की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है।

दिग्गज तेज गेंदबाज अकरम ने स्काई स्पोर्ट्स से बातचीत में कहा, “ये (हार) पाकिस्तान टीम और पाकिस्तान में क्रिकेट को पसंद करने वालों को दुख पहुंचाएगी। हार और जीत क्रिकेट का हिस्सा है लेकिन जहां तक लीडरशिप का सवाल है, हमारे कप्तान ने इस मैच में एक ही चाल कई बार मिस की।”

पूर्व क्रिकेटर को हैरानी है कि पुछल्ले बल्लेबाज वोक्स के खिलाफ पाक गेंदबाजों ने बाउंसर्स या शॉर्ट लेंथ गेंदो का इस्तेमाल क्यों नहीं किया। उन्होंने कहा, “जब वोक्स आया तो कोई बाउंसर नहीं, कोई शॉर्ट गेंज नहीं। उन्होंने उसे सेट होने का मौका दिया और फिर रन आसानी से आते रहे।”

हार के बाद पाक कप्तान अजहर अली ने कहा- अभी खत्म नहीं हुई है सीरीज

54 साल के अकरम ने कहा, “एक बार साझेदारी बन गई, फिर कुछ भी नहीं हुआ- टर्न नहीं हुआ, स्विंग नहीं मिला और बटलर-वोक्स खेल को अपनी तरफ ले गए।”

मैच के दौरान कमेंट्री बॉक्स में मौजूद रहे अकरम का ये भी मानना है कि पाक कप्तान ने युवा तेज गेंदबाजों शाहीन आफरीदी और नसीम शाह से कम गेंदबाजी कराई।

उन्होंने कहा, “हमारे पास 17 साल के नसीम हैं, जो 90 mph की रफ्तार से गेंदबाजी करते हैं, 20 साल के शाहीन हैं जो 88 mph की गति से गेंद डालते हैं और उन्हें ज्यादा ओवर मिलने चाहिए, हर पारी में 18-20 ओवर मिलने ही चाहिए, चाहे जो भी स्थिति हो।”

जोस बटलर को था टेस्ट करियर खत्म होने का डर; मैनेचेस्टर टेस्ट को मान रहे थे आखिरी मैच

पूर्व दिग्गज ने आखिर में कहा, “पाकिस्तान क्रिकेट का मतलब ही है अप्रत्याशितता और आक्रामकता। हम कोई काउंटी गेंदबाज नहीं जो पूरा दिन लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी करते रहेंगे।”

अजहरी अली की आलोचना करने वालों में इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन भी शामिल हैं, जिनका कहना है कि इस तरह के मैच हारकर कोई भी ज्यादा समय पर पाकिस्तान का कप्तान नहीं बना रह सकता।

हुसैन ने कहा, “उन्हें इंग्लैंड में रन नहीं बनाए है और उन्हें अब एक ऐसा मैच भी गंवाया जो उन्हें जीतना चाहिए था। अगर आप दो में से एक चीज ठीक नहीं करते हैं तो आप पाकिस्तान में बतौर कप्तान ज्यादा दिन टिक नहीं पाएंगे। इसलिए उसे बड़ा स्कोर बनाने की जरूरत है।”