Our players felt secure in IPL bio-bubble: Graeme Smith
इंडियन प्रीमियर लीग. (PC- Twitter)

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के क्रिकेट निदेशक ग्रीम स्मिथ ने कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में भाग ले रहा उनका कोई भी खिलाड़ी भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा तैयार किये गये जैव सुरक्षित वातावरण (बायो बबल) में असुरक्षित महसूस नहीं कर रहा था.

बायो बबल में कोविड-19 के कई मामले पाये जाने के बाद आईपीएल को चार मई को स्थगित कर दिया गया था. इस लीग में भाग लेने वाले दक्षिण अफ्रीका के सभी 11 खिलाड़ी जोहानिसबर्ग रवाना हो चुके हैं.

पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान स्मिथ ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम किसी भी तरह से कोई फैसला नहीं सुना सकते हैं. खिलाड़ियों से बात की, वे वहां सुरक्षित महसूस कर रहे थे. उनका कहना था कि भारत में जैव सुरक्षित वातावरण का अनुभव वास्तव में बहुत अच्छा रहा. वे किसी भी समय जोखिम महसूस नहीं कर रहे थे. लेकिन ऐसी ही प्रकृति कोविड से जुड़ी है. ’’

भारत में अभी प्रतिदिन चार लाख से अधिक मामले आ रहे हैं तथा हर दिन 4000 से अधिक लोगों की मौत हो रही है. स्मिथ ने कहा कि महामारी के दौरान जोखिम हमेशा बना रहता है और आयोजकों को दोष नहीं दिया जा सकता है.

उन्होंने कहा, ‘‘कई बार आप जो चाहते हो वह आप नहीं कर सकते हो. बायो बबल को कभी पूर्ण सुरक्षित नहीं कहा जा सकता है. जब आपके देश में कोविड का प्रकोप हो तो जोखिम हमेशा बना रहता है. दुर्भाग्य से यह जब बायो बबल में घुसता है तो फिर क्या होगा यह भविष्यवाणी करना मुश्किल हो जाता है. ’’

स्मिथ ने दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ियों की सुरक्षित वापसी के लिये बीसीसीआई के प्रयासों की भी सराहना की. दक्षिण अफ्रीकी खिलाड़ी शुक्रवार को स्वदेश लौट गये और अभी अपने घरों में पृथकवास पर हैं. उन्होंने कहा, ‘‘बीसीसीआई ने जिस तरह से खिलाड़ियों की देखभाल की वह अनुकरणीय है. हमारे खिलाड़ियों के लिये थोड़ा आसान था क्योंकि हमारी सीमाएं बंद नहीं थी और उनके लिये व्यावसायिक उड़ान उपलब्ध थी.’’