Oval Test: Australia are really going to struggle from here, says Ricky Ponting
जोफ्रा आर्चर (IANS)

ओवल टेस्ट में मिशेल मार्श के शानदार पांच विकेट हॉल के दम पर इंग्लैंड को 294 के स्कोर पर रोकने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम का सामना युवा गेंदबाजों सैम कर्रन और जोफ्रा आर्चर से हुआ। पांचवें एशेज टेस्ट के दूसरे दिन कंगारू टीम 225 रन पर ढेर हो गई।

दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड टीम 78 रन की बढ़त पर थी। यहां से ऑस्ट्रेलिया के लिए जीत की राह मुश्किल लग रही है लेकिन पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग का मानना है कि टिम पेन की टीम अब भी 18 साल बाद इंग्लैंड में एशेज जीतने का सपना पूरा कर सकती है, हालांकि इसके लिए उन्हें अगले तीन दिन असाधारण क्रिकेट खेलना होगा।

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से बातचीत में पूर्व कप्तान ने कहा, “सच कहूं तो मुझे लगता है कि यहां से ऑस्ट्रेलिया संघर्ष करेगी। टॉस जीतने और पहले गेंदबाजी करने के बाद आप पहली पारी में पिछड़ नहीं सकते। अगर आप पीछे हैं तो वापसी करने का रास्ता बेहद लंबा होगा। ये उनके लिए बेहद मुश्किल काम होगा। उन्हें असाधारण गेंदबाजी और बल्लेबाजी करनी होगी।”

The Ashes: मिशेल मार्श ने झटका पहला 5-विकेट हॉल, 294 पर ढेर हुआ इंग्लैंड

पॉन्टिंग ने आगे कहा, “पिच काफी सूखी है, जिसके बारे में हम सभी चिंतित थे जब ऑस्ट्रेलिया ने पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। मैच में आगे जाकर यहां पर बल्लेबाजी करना कितना मुश्किल होने वाला है। उन्हें इंग्लैंड को 250 के अंदर ऑलआउट करने होगा, आप किसी भी टेस्ट मैच की आखिरी पारी में 300 से ज्यादा रन का पीछा नहीं करना चाहेंगे, खासकर कि इस सूखी पिच पर।”

केनिंग्टन ओवल में ऑस्ट्रेलिया टीम की खराब स्थिति के अलावा पॉन्टिंग ने इस एशेज सीरीज में स्टीव स्मिथ के प्रभाव को लेकर भी बात की। स्मिथ ने इस सीरीज में खेली 6 पारियों में 751 रन बनाए हैं जबकि किसी और बल्लेबाज ने 400 का आंकड़ा भी नहीं छुआ है। इस बात में कोई शक नहीं है कि ऑस्ट्रेलिया के एशेज रीटेन करने में स्मिथ की बड़ी भूमिका है लेकिन पॉन्टिंग का मानना है कि ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी क्रम का स्मिथ पर जरूरत से ज्यादा निर्भर होना चिंताजनक है।

उन्होंने कहा, “डेवी (डेविड वार्नर) के लिए ये सीरीज भुला देने वाली रही है। आप एजबेस्टन की दूसरी पारी में बनाए वेड के शतक को हटा दें तो उसने भी कम स्कोर बनाए हैं। उन्होंने शीर्ष पर हैरिस, ख्वाजा, बैनक्रॉफ्ट को मौका दिया है लेकिन किसी को सफलता नहीं मिली है और ये दोनों ही टीमों के साथ हुआ है। हालात बल्लेबाजी के लिए मुश्किल रहे हैं लेकिन मैंने पूरी सीरीज में बल्लेबाजों को एक जैसी गलतियां करते हुए देखा है।”

लंदन टेस्ट: स्मिथ के अर्धशतक के बावजूद आर्चर के 6 विकेट ने इंग्लैंड को दिलाई बढ़त

पूर्व कप्तान ने माना कि सीरीज पर स्मिथ का गहरा प्रभाव है लेकिन ऑस्ट्रेलिया के एशेज रीटेन करने का एकलौता कारण स्मिथ नहीं हैं। उन्होंने कहा, “मेरा मानना है ऑस्ट्रेलिया तब भी आगे होता। मैंने कई लोगों को कहते सुना कि वो (स्मिथ) अकेला अंतर है। मुझे नहीं लगता है उनसे अकेले ही (दोनों टीमों के बीच) अंतर पैदा किया।”

उन्होंने आगे कहा, “ऑस्ट्रेलिया के आगे होने का वो बहुत बड़ा कारण है लेकिन अगर आप इंग्लैंड के बल्लेबाजी क्रम से बेन स्टोक्स के रन निकाल दें तो भी उनके लिए भी आप यही कह सकते है, तब ये बिल्कुल अलग बात हो जाएगी। लेकिन टीम का खेल इसी बारे हैं। कभी कभार सभी बराबर योगदान देते हैं, कभी कभी आपके दो या तीन खिलाड़ी आगे आते है। अगर आप दोनों टीमों को देखें तो इंग्लैंड के मुकाबले ऑस्ट्रेलिया की ओर से पूरी सीरीज में ज्यादा अच्छे (निजी) प्रदर्शन किए गए हैं।”