पाकिस्तान दौरे पर 2 टेस्ट मैच की सीरीज खेल रही साउथ अफ्रीका को कराची टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा है. अपनी दूसरी पारी में एक वक्त अफ्रीकी टीम मजबूत स्थिति में नजर आ रही थी. लेकिन तीसरे दिन के अंतिम सत्र के अंतिम आधे घंटे के खेल में उसने धड़ाधड़ 3 विकेट गंवाकर पाकिस्तान को मैच में मौका दे दिया और मैच के चौथे दिन उसे 7 विकेट से हार सामना करना पड़ा. हार के बाद कप्तान क्विंटन डिकॉक (Quinton De Kock) ने बताया आसानी से विकेट गंवाने के चलते उनकी टीम ने यह मैच गंवा दिया.

इस कप्तान ने कहा कि उनके खिलाड़ियों के पास कराची की इस धीमी पिच पर तालमेल बिठाने का पर्याप्त समय था लेकिन उनके बल्लेबाज ऐसा करने में नाकाम साबित हुए. पाकिस्तान की इस जीत में उसकी स्पिन जोड़ी नौमान अली और यासिर शाह ने अहम भूमिका निभाई.

डिकॉक ने मैच के बाद कहा, ‘बेशक पहली पारी में हमारे बल्लेबाजी प्रदर्शन ने हमें निराश किया. हमने कुछ विकेट आसानी से गंवा दिए और इसके कारण हमें हार का सामना करना पड़ा.’ पाकिस्तान की साउथ अफ्रीका के खिलाफ 27 मैचों में यह सिर्फ 5वीं जीत है.

डिकॉक ने कहा कि कोविड-19 से जुड़ी स्थिति के बावजूद उनकी टीम ने पाकिस्तान में हालात से सामंजस्य बैठाने में अधिक समय नहीं लिया. उन्होंने कहा, ‘हमने पहली पारी में स्वयं को निराश किया. बेशक जब आप पहले बल्लेबाजी करते हो तो आपको 220 से अधिक रन बनाने होते हैं और इसके बाद हमने 40 रन के आसपास उनके 4 विकेट गंवा दिए लेकिन उन्हें वापसी करने का मौका दिया.’

हाल के मैचों में दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाजी क्रम के ध्वस्त होने पर डिकॉक ने कहा कि उनकी टीम यह पहचानने करने की कोशिश कर रही है कि आखिर ऐसा क्यों हो रहा है. इस विकेटकीपर कप्तान ने कहा कि जब बल्लेबाज दबाव में आता है तो शॉट खेलने की कोशिश करता है लेकिन इस पिच पर धैर्य के साथ खेलने की जरूरत थी.

इनपुट: भाषा