पाकिस्‍तान दौरे पर तीसरे और अंतिम वनडे मुकाबले में जिम्‍बाब्‍वे की टीम ने बड़ा उलटफेर कर सभी को चौंका दिया. सुपर ओवर में जिम्‍बाब्‍वे ने पाकिस्‍तान पर जीत दज कर सीरीज को 1-2 से हार के साथ खत्‍म किया. जिम्‍बाब्‍वे के सीन विलियम्स के नाबाद शतक के बाद तेज गेंदबाज ब्लेसिंग मुजरबानी की धारदार गेंदबाजी से जिंबाब्वे ने पाकिस्‍तान को हराया.

पाकिस्‍तान की टीम सुपरओवर में महज दो रन ही बना पाई, जिसे जिम्‍बाब्‍वे ने आसानी से बना दिया. जिम्‍बाब्‍वे के मुजरबानी ने सुपर ओवर में शानदार गेंदबाजी की जिससे पाकिस्‍तान पूरी छह गेंद भी नहीं खेल पाया. पाकिस्‍तान के इफ्तिखार अहमद और खुशदिल शाह ने जल्‍द ही अपने विकेट गंवा दिए. जिसके बाद टेलर और रजा ने असानी से अपनी टीम को जीत दिलाई.

यह सीरीज विश्व कप सुपर लीग का हिस्सा थी जिससे पाकिस्तान ने दो जीत से 20 जबकि जिंबाब्वे ने एक जीत से 10 अंक हासिल किए.

जिम्‍बाब्‍वे ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवरों में सीन विलियम्‍स की 135 गेंदों पर 118 रन की नाबाद पारी के दम पर निर्धारित 20 ओवरों में 278/6 बनाए. लक्ष्‍य का पीछा करने के दौरान मेजबान टीम भी इतने ही रन बना पाई. कप्‍तान बाबर आजम के बल्‍ले से 125 गेंदों पर 125 रन निकले. वहीं, वाहब रियाज ने भी 52 रन बनाए.

पाकिस्तान ने अपना पांचवां वनडे खेल रहे तेज गेंदबाज मोहम्मद हसनेन की बदौलत जिंबाब्वे का स्कोर 22 रन पर तीन विकेट कर दिया था लेकिन विलियम्स के नाबाद 118, ब्रेंडन टेलर के 56 और सिकंदर रजा के 45 रन की बदौलत टीम छह विकेट पर 278 रन का प्रतिस्पर्धी स्कोर खड़ा करने में सफल रही.

विलियम्स ने टेलर के साथ चौथे विकेट के लिए 84, वेस्ली माधवेरे (33) के साथ पांचवें विकेट के लिए 75 और रजा के साथ छठे विकेट के लिए 96 रन की साझेदारी करके जिंबाब्वे को संभाला.

पाकिस्तान की ओर से हसनेन ने 26 रन देकर पांच विकेट चटकाए.

इसके जवाब में पाकिस्तान ने भी कप्तान बाबर आजम (125) के शतक और वहाब रियाज (52) के अर्धशतक से नौ विकेट पर 278 रन बनाए. मुजरबानी ने 49 रन देकर पांच विकेट चटकाए.

जिंबाब्वे के पास नियमित ओवरों में ही जीत दर्ज करने का मौका था लेकिन पहले रजा ने रियाज का कैच टपका दिया और फिर मैच की अंतिम गेंद पर तेंडाई चिसोरो ने मिसफील्ड की जिससे गेंद चार रन के लिए चली गई और मैच टाई हो गया.