Pakistan vs South Africa: Fawad Alam century guide Pakistan to 88 run lead on day-2
Fawad Alam @ Twitter/ PCB

फवाद आलम के करियर के तीसरे शतक की मदद से पाकिस्तान ने शुरुआती झटकों से उबरकर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट क्रिकेट मैच के दूसरे दिन बुधवार को यहां पहली पारी में 88 रन की बढ़त हासिल की। दक्षिण अफ्रीका के पहली पारी के 220 रन के जवाब में पाकिस्तान ने दूसरे दिन का खेल समाप्त होने तक आठ विकेट पर 308 रन बनाये हैं।

R Ashwin ने क्रिकेट ऑस्‍ट्रेलिया के दोगलेपन का किया खुलासा, बोले- हमारे लिए ये पचाना था मुश्किल

पाकिस्तानी पारी के नायक 35 वर्षीय फवाद रहे। उन्होंने 245 गेंदों पर 109 रन बनाये जिसमें नौ चौके और दो छक्के शामिल हैं। बायें हाथ के इस बल्लेबाज ने केशव महाराज पर छक्का जड़कर अपना शतक पूरा किया, लेकिन इसके बाद लुंगी एनगिडी (55 रन देकर दो) की गेंद पर मिडविकेट पर कैच दे बैठे।

फवाद ने मंगलवार की शाम को तब क्रीज पर कदम रखा जबकि टीम का स्कोर चार विकेट पर 27 रन था। इसके बाद उन्होंने अनुभवी अजहर अली के साथ पांचवें विकेट के लिये 94, मोहम्मद रिजवान (33) के साथ छठे विकेट के लिये 55 और फहीम अशरफ (64) के साथ सातवें विकेट के लिये 102 रन की उपयोगी साझेदारियां की।

दोहरे शतक के बाद Joe Root की 186 रन की पारी देख फिदा हुए कुमार संगकारा, कह दी ये बात

पाकिस्तान में पिछले 13 वर्षों में अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहा दक्षिण अफ्रीका दूसरे दिन केवल चार विकेट हासिल कर पाया जबकि पहले दिन 14 विकेट गिरे थे। दक्षिण अफ्रीका के स्टार तेज गेंदबाज कैगिसो रबाडा (45 रन देकर दो) दूसरे दिन एक भी विकेट हासिल नहीं कर पाये। पाकिस्तान ने दूसरे दिन चार विकेट के एवज में 275 रन जोड़े।

अपना 84वां टेस्ट मैच खेल रहे अजहर ने बायें हाथ के स्पिनर केशव महाराज (71 रन देकर दो) की गेंद पर कट करने के प्रयास में विकेटकीपर क्विंटन डिकॉक को कैच दिया। मोहम्मद रिजवान ने चाय के विश्राम से ठीक पहले एनगिडी की गेंद पर पवेलियन लौटे। फाफ डुप्लेसिस ने स्लिप में डाइव लगाकर उनका कैच लपका।

फवादा ने 2009 में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की लेकिन इसके बाद 10 साल तक उन्हें मैच खेलने का मौका नहीं मिला था। उन्होंने पिछले साल दिसंबर में न्यूजीलैंड के खिलाफ शतक जमाया था और फिर से टीम में अपनी काबिलियत साबित की।

फहीम अशरफ ने उनका अच्छा साथ दिया। तेज गेंदबाज एनरिच नोर्जे (84 रन देकर दो) ने उन्हें यार्कर पर बोल्ड किया। स्टंप उखड़ने के समय हसन अली 11 और नौमान अली छह रन पर खेल रहे थे।