Parthiv Patel: We don’t deserve to have lost four games in a row
पार्थिव पटेल (BCCI)

आईपीएल टूर्नामेंट के इतिहास में एक भी खिताब नहीं जीतने वाली रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर टीम 12वें सीजन में अब तक खाता नहीं खोल पाई है। विराट कोहली की कप्तानी में आरसीबी ने लगातार चार मैच हारे हैं। हालांकि टीम के प्रमुख बल्लेबाज पार्थिव पटेल का कहना है कि उनकी टीम लगातार चार मैच हारने के लायक नहीं है।

कोलकाता के खिलाफ अपने पांचवें लीग मैच से पहले पार्थिव ने कहा, “जाहिर है कि हम ये कहने से बच नहीं सकते हैं कि हम दबाव में हैं। मामला यही है, इसमें कोई शक नहीं है। हम यहां बैठकर ये नहीं बोल सकते है, ‘चलो हम 0-4 हैं और इस बात से खुश हैं’। लेकिन एक बात ये है कि हम टीम को लेकर काफी सकारात्मक हैं। हमने हमेशा ड्रेसिंग रूम में ये बात की है, जिस तरह की ये टीम है, वो लगातार चार मैच हारने लायक नहीं है।”

ये भी पढ़ें: कोलकाता के खिलाफ टूर्नामेंट में पहली जीत की तलाश में उतरेगी बैंगलुरू

कोहली और एबी डिविलियर्स के बल्ले से अब तक कोई बड़ी पारी नहीं निकलने के चलते बैंगलुरू टीम की बल्लेबाजी का भार पार्थिव के कंधों पर है। उन्होंने पिछले 4 मैचों में 138 रन बनाए है। अपनी बल्लेबाजी के बारे में पार्थिव ने कहा, “मैं जिस तरह से खेल रहा हूं उससे खुश हूं लेकिन निजी प्रदर्शन का महत्व नहीं है। जो भी प्लेइंग इलेवन में होता है वो वही करने की कोशिश करता जो मैं कर रहा हूं। जब भी मुझे मौका मिलता है मैं अपनी क्षमता के हिसाब से सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश करता हूं और मैं खुश हूं कि मेरा प्रदर्शन यहां तक पहुंचा है।”

पार्थिव भले ही टूर्नामेंट में अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हों लेकिन टीम के दो धुरंधरों कोहली-डिविलियर्स के बल्ले से रन ना निकलना बैंगलुरू टीम को भारी पड़ रहा है। पिछले चार मैचों में कोहली ने 78 और डिविलियर्स ने 93 रन ही बनाए हैं। बैंगलुरू के विकेटकीपर बल्लेबाज ने इस बारे में कहा, “जिस कारण से हर कोई विराट और एबी की बात कर रहा है वो इसलिए क्योंकि उन्होंने आरसीबी के लिए जो प्रदर्शन किया है, विराट ने भारत के लिए और एबी ने दक्षिण अफ्रीका के लिए जिस तरह का प्रदर्शन किया है।”

ये भी पढ़ें: हर बड़े खिलाड़ी की तरह डेविड वार्नर को भी सफलता की भूख: टॉम मूडी

पार्थिव ने आगे कहा, “मुझे लगता है कि हर चीज से ऊपर उठकर वो (कोहली और डिविलियर्स) बड़ा स्कोर बनाने की कोशिश करेंगे। मुंबई के खिलाफ मैच में एबी ने अच्छा प्रदर्शन किया था और उसी मैच में कोहली ने भी 40 रन बनाए थे। हर खिलाड़ी की तरह वो भी रनों के भूखे हैं। टीम के नजरिए से और कप्तान से नजरिए से, फिलहाल बात मैच जीतने की है। मुझे नहीं लगता कि टीम में कोई भी निजी कीर्तिमानों के बारे में सोच रहा है।”