Pat Cummins hopefull of playing most Upcoming ODI series for Australia
Pat Cummins (AFP Photo)

भारत के खिलाफ तीन मैचों की वनडे सीरीज के दौरान ब्रेक पर गए ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज पैट कमिंस एशेज सीरीज और विश्व कप से पहले आराम नहीं करना चाहते हैं। कमिंस के साथ मिशेल स्टार्क और जॉश हेजलवुड के वर्कलोड को मैनेज करने के लिए उन्हें भारत के खिलाफ वनडे सीरीज से आराम दिया गया था। वहीं हेजलवुड चोट के चलते श्रीलंका के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज से ही बाहर हो गए हैं।

ये भी पढ़ें: ऑलराउंडर मार्कस स्‍टोइनिस पहली बार ऑस्‍ट्रेलियाई टेस्‍ट टीम में

वर्कलोड को मद्देनजर रखते हुए भारत दौरे पर होने वाली वनडे-टी20 सीरीज और फिर पाकिस्तान के खिलाफ यूएई में होने वाले वनडे सीरीज पर सीनियर तेज गेंदबाजों को ब्रेक देने की योजना बनाएगी लेकिन कमिंस ऐसा नहीं चाहते। उन्होंने कहा, “इसके (श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट सीरीज) बाद दो वनडे दौरे हैं और मुझे उम्मीद है कि मैं उसमें शामिल रहूंगा और कुछ टी20 मैच भी हैं। वनडे मैच, टेस्ट के मुकाबले कम भार वाले होते हैं और पूरा अप्रैल अहम इंग्लिश सीजन की ओर बढ़ रहा है तो देखते हैं कि क्या होता है। मुझे उम्मीद है कि मैं उनमें से ज्यादातर मैच खेलूंगा क्योंकि टेस्ट सीरीज के बाद मुझे दो हफ्ते का आराम मिला था, और मैं काफी तरोताजा महसूस कर रहा हूं।”

नई गेंद से गेंदबाजी करने को बेताब नहीं हैं कमिंस

हाल ही ऑस्ट्रेलिया टीम के उप कप्तान बनाए गए कमिंस नई गेंद से गेंदबाजी करने को लेकर ज्यादा बेताब नहीं है। उनका मानना है कि अगर दूसरे गेंदबाज ये काम उनसे बेहतर करते हैं तो उन्हें इसमें दखल नहीं देना चाहिए। सीनियर तेज गेंदबाज ने कहा, “झाय (रिचर्डसन) जैसा कोई, जैसा ही टीम में आया, मैंने कहा कि उसके पास खूबसूरत सीम है और उसे नई गेंद मिलनी चाहिए। सच कहूं तो मैं अपनी भूमिका से खुश हूं। मुझे लगता है कि नई गेंद से ओवर करने वाले हमारे गेंदबाज अपना काम अच्छे से कर रहे हैं।”

ये भी पढ़ें: हार के डर से श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट से पहले सो नहीं पाए थे ऑस्ट्रेलियाई कोच

कमिंल ने आगे कहा, “जब स्टार्सी (मिशेल स्टार्क) अपनी लय में होता है तो आपको लगता है कि विपक्षी टीम को तहस-नहस कर देगा। आपने भारत के खिलाफ उसे देखा, उनके दोनों सलामी बल्लेबाज टीम से बाहर हो गए क्योंकि हमने नई गेंद से अच्छी शुरुआत की। इसलिए मैं हमेशा ही बाद में आने को तैयार हूं, गेंद अपने हाथ में लेने के लिए बेताब रहता हूं लेकिन कुछ घंटे इंतजार करने से मुझे ऐतराज नहीं है। मुझे लगता है कि नई गेंद वाले गेंदबाज अपना काम अच्छे से कर रहे हैं, मेरा काम है गेंद को विकेट पर तेज गेंदबाजी करना और मैं वो अच्छे से कर रहा हूं।”