PCB can resume inquiry against Danish Kaneria after accepting spot-fixing allegations
Danesh Kaneria (Getty Images)

छह साल तक स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों से इनकार करने के बाद पाक क्रिकेटर दानिश कनेरिया ने आखिरकार अपने ऊपर लगे आरोपों को कबूल कर लिया। कनेरिया ने हाल ही में दिए एक बयान में स्वीकार किया कि बुकी के साथ संपर्क में रहने की बात कही और फैंस ने माफी मांगी। कनेरिया के इस बयान के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड उनके खिलाफ फिर से जांच शुरू कर सकता है।

कनेरिया पर 2012 में इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने आजीवन बैन लगा  दिया था। पीसीबी ने 2012 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के भ्रष्टाचार रोधी प्रोटोकोल का अनुकरण करते हुए कनेरिया पर आजीवन प्रतिबंध को पुष्ट किया थ। कनेरिया इंग्लिश काउंटी मैचों में स्पॉट फिक्सिंग करने और दूसरे खिलाड़ियों को स्पॉट फिक्स करने के दोषी पाए गए थे। कनेरिया ने आजीवन बैन के खिलाफ कई बार अपील की और हार गए। अब उन्हें इस मामले के लिए ईसीबी को 1,00,000 पाउंड का भुगतान भी करना है।

पीसीबी के विश्वस्त सूत्र ने कहा, ‘‘कनेरिया का स्पॉट फिक्सिंग की बात स्वीकार करना गंभीर मसला है और इस हफ्ते बोर्ड के चेयरमैन एहसन मनी अपनी कानूनी टीम तथा बोर्ड के भ्रष्टाचार रोधी और सतर्कता अधिकारियों से चर्चा करेंगे कि कनेरिया के खिलाफ जांच दोबारा शुरू की जानी चाहिए या नहीं क्योंकि अब उन्होंने भ्रष्टाचार में शामिल होने की बात स्वीकार कर ली है।’’

(पीटीआई न्यूज)