फिलिप ह्यूज © Getty Images
फिलिप ह्यूज © Getty Images

सिडनी। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज फिलिप ह्यूज की असमय मौत की घटना की जांच कर रही समिति ने साफ कर दिया है कि उस प्रतिभाशाली बल्लेबाज की मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है। इसके लिए सिर्फ हालात को दोषी बताया जा सकता है। जांच समिति के मुखिया कोरोनेर माइकल बार्न्‍स ने यह बात कही है। सिडनी में दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के साथ घरेलू मैच के दौरान न्यू साउथ वेल्स के गेंदबाज सीन अबॉट की गेंद ह्यूज की गर्दन में लग गई थी। गेंद लगने के बाद वह मैदान पर ही गिर पड़े थे जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया था जहां ब्रेन हैमरेज से उनकी मौत हो गई थी। ह्यूज की मौत की जांच के लिए अक्टूबर में जांच समिति का गठन किया गया था। समिति ने किसी को भी ह्यूज की मौत का दोषी नहीं पाया है। कोरोनेर ने हालांकि खेल को और सुरक्षित बनाने के लिए अपने सुझाव दिए हैं।

क्रिकेट आस्टेलिया (सीए) ने कहा है कि वह सुझावों को जल्द से जल्द अमल में लाएगी। कोरोनेर ने कहा कि अबॉट के इरादे बुरे नहीं थे। जहां तक शॉर्ट पिच गेंदों के नियमों की बात है तो इसके संबंधित किसी भी नियम का उल्लंघन नहीं हुआ था। उन्होंने कहा, “उस दिन 23 बाउंसर गेंदें फेंकी गई जिसमें से 20 फिल के खिलाफ फेंकी गई थी। वह सहजता से शॉर्ट पिच गेंदों का सामना कर रहे थे।” उन्होंने कहा, “गेंद को भांपने में हल्की सी चूक या शॉट को सही तरीके से अंजाम न देने के कारण गेंद उनकी गर्दन में जा लगी जिसके कारण उन्हें चोट लगी।” [ये भी पढ़ें: ‘शादी की सालगिरह पर तोहफा मांगने पर इमरान ने दिया तलाक’ : रेहम खान]

पांच दिन तक चली इस जांच में उस मैच में न्यू साउथ वेल्स टीम का हिस्सा रहे ब्रेड हेडिन, डग बॉलिंगर और डेविड वार्नर ने किसी भी तरह की खेल भावना के खिलाफ व्यवहार की बात से इनकार किया है। दूसरे छोर पर ह्यूज के साथ बल्लेबाजी कर रहे टिम कूपर ने भी इन तीनों खिलाड़ियों की बात का समर्थन किया है। ह्यूज की मौत पर सवाल तब उठे थे तब एक गेंदबाज ने ह्यूज से कहा था कि, “मैं तुम्हे मार दूंगा।” कोरोनेर ने कहा कि इस तरह की बातें बल्लेबाज को परेशान करने के लिए की जाती हैं, लेकिन इसका ह्यूज की मौत से कोई लेना देना नहीं है।