भारत और न्यूजीलैंड के बीच रांची में शुक्रवार को होने वाले टी20 मैच को लेकर जनहित याचिका झारखंड उच्च न्यायालय ने गुरूवार को बिना कोई निर्देश दिए खारिज कर दी।

रांची के जेएससीए स्टेडियम में होने वाले दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच को स्थगित करने या सिर्फ स्टेडियम की क्षमता के आधे दर्शकों के साथ ही मैच कराने की अनुमति देने की मांग के साथ झारखंड उच्च न्यायालय में आज एक याचिका दाखिल की गई।

झारखंड उच्च न्यायालय के अधिवक्ता धीरज कुमार ने झारखंड राज्य क्रिकेट संघ के जेएससीए स्टेडियम में न्यूजीलैंड और भारत के बीच शुक्रवार को होने वाले सीरीज के दूसरे टी20 मैच में शत प्रतिशत सीट दर्शकों के लिए खोले जाने के खिलाफ झारखंड उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दाखिल की है।

अधिवक्ता ने शत प्रतिशत क्षमता के साथ क्रिकेट मैच के आयोजन की छूट दिए जाने का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को लेकर जब राज्य के मंदिर, सभी अदालतों सहित अन्य कार्यालय भी 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ काम कर रहे हैं तो किस नियम के तहत राज्य सरकार ने क्रिकेट स्टेडियम को 100 प्रतिशत क्षमता के साथ उपयोग करने की छूट दी है? याचिका में कल के मैच को स्थगित करने अथवा शत प्रतिशत क्षमता से स्टेडियम के उपयोग पर रोक लगाने की मांग की गयी है।

चूंकि ये अंतरराष्ट्रीय मसला है और क्रिकेट मैच की तैयारी पूरी हो चुकी है लिहाजा मुख्य न्यायाधीश डॉक्टर रवि रंजन और न्यायाधीश सुजीत नारायण प्रसाद की खंडपीठ ने बिना कोई निर्देश दिए याचिका खारिज कर दी।