भारतीय टेस्ट क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) की ‘नई दीवार’ कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) ने बांग्लादेश के खिलाफ जारी पहले डे-नाइट टेस्ट (Day-Night Test) मैच के पहले दिन अपने नाम एक खास रिकॉर्ड दर्ज कर लिया.

कोहली ने हासिल की ‘विराट’ उपलब्धि, ऐसा करने वाले पहले भारतीय कप्तान बने

पुजारा ने कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डंस में खेले जा रहे दो मैचों की सीरीज के दूसरे और अंतिम टेस्ट की पहली पारी में 55 रन बनाए. उन्होंने अपनी अर्धशतकीय पारी के दौरान 105 गेंदों पर 8 चौके लगाए.

सौराष्ट्र के इस बल्लेबाज ने 12वां रन पूरा करने के साथ फर्स्ट क्लास क्रिकेट (First Class Cricket) में अपने 15,000 रन भी पूरे कर लिए. पुजारा यह उपलब्धि हासिल करने वाले तीसरे भारतीय हैं.

रोहित शर्मा का कैच देख फैंस को याद आया ‘सुपरमैन’

गुलाबी गेंद (PinkBallTest) का सामना करने से पहले पुजारा के नाम 193 फर्स्ट क्लास मैचों में 14,988 रन दर्ज थे. अब फर्स्ट क्लास में पुजारा की रनों की संख्या 15,043 हो गई है जिसमें 49 शतक और 53 अर्धशतक शामिल है.

औसत के मामले में तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ के बाद तीसरे नंबर पर हैं पुजारा

चेतेश्वर पुजारा ने फर्स्ट क्लास मैचों में अब तक 53.72 की औसत से बल्लेबाजी है. सर्वाधिक औसत के मामले में सचिन तेंदुलकर (57.84) पहले और राहुल द्रविड़ (55.33) दूसरे नंबर पर हैं. इसके बाद पुजारा का नाम आता है.

टेस्ट में पुजारा ने पूरे किए कैचों का अर्धशतक

पुजारा इस समय करियर का 75वां टेस्ट मैच खेल रहे हैं. उन्होंने बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टेस्ट के पहले दिन फील्डिंग के दौरान अपने कैचों की संख्या 50 तक पहुंचा दी. पुजारा ने ये उपलब्धि तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी की गेंद पर अबू जायद को कैच कर हासिल की. उन्होंने पहली पारी में दो कैच लिए. जायेद को कैच इशांत शर्मा की गेंद पर मेहदी हसन मिराज को कैच कर पुजारा ने अपने कैच की संख्या 49 पहुंचाई थी. इससे पहले 74 टेस्ट में उनके नाम 48 कैच दर्ज थे.