वेस्टइंडीज के पूर्व तेज गेंदबाज इयान बिशप ने कहा है कि भारत के अगले स्तर के तेज गेंदबाजों के समूह की नींव महान आलराउंडर कपिल देव जैसे खिलाड़ियों ने रखी और मौजूदा कप्तान विराट कोहली ने इसे मजबूत किया जो आक्रामक होकर खेलने में विश्वास रखते हैं।

बिशप ने कहा कि मजबूत तेज गेंदबाजी आक्रमण को एकजुट करने के कोहली के जुनून ने उस बुनियाद को मजबूत करना आसान कर दिया जिसे कपिल ने रखा था।

बिशप ने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘‘याद रखिए कि गेंदबाजों का यह समूह अभी तैयार नहीं हुआ है। इसकी बुनियाद पहले ही रखी जा चुकी थी- अगर आप कपिल देव के युग में जाओ, इसके बाद जवागल श्रीनाथ, जहीर खान, मुनाफ पटेल, एस श्रीसंत।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अब इसे उस कप्तान के साथ मजबूती मिल रही है जो उन पर भरोसा करता है। लेकिन यह भी तथ्य है कि आपको जसप्रीत बुमराह जैसी पीढ़ी में एक बार मिलने वाली प्रतिभा मिली है।’’

इस पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘पीढ़ी में एक बार मिलने वाली प्रतिभा इसलिए क्योंकि वह खेल के सभी प्रारूपों में अच्छी तरह खेलता है। मोहम्मद शमी अपने खेल को अलग स्तर पर ले गए हैं। इशांत शर्मा के स्तर में भी सुधार हुआ है।’’

वेस्टइंडीज की ओर से 1989 से 1998 के बीच 43 टेस्ट में 161 विकेट चटकाने वाले 52 साल के बिशप ने कहा कि वह भविष्यवाणी भी नहीं कर सकते थे कि भारतीय तेज गेंदबाज कैरेबिया आएंगे और वेस्टइंडीज के साथ वह करेंगे जो वह अन्य टीमों के साथ कई दशक पहले करता था।

उन्होंने कहा, ‘‘इसलिए श्रेय गेंदबाजी कोच भरत अरूण, प्रशासकों और कप्तानों को जाता है। मैं इतना सुधार नहीं देख पाया था लेकिन मुझे लगता है कि उन गेंदबाजों में काफी प्रतिभा होती है जो 90 मील प्रति घंटा के करीब या अधिक की गति से गेंदबाजी कर सकते हैं।’’

बिशप ने हालांकि भारत की मौजूदा गेंदबाजी इकाई की तुलना अतीत के वेस्टइंडीज के तूफानी गेंदबाजों से करने से इनकार कर दिया।

उन्होंने कहा, ‘‘वे (भारतीय गेंदबाज) प्रदर्शन ही इतना अच्छा कर रहे हैं कि तुलना होनी ही है। मैं इससे दूर रहूंगा क्योंकि मुझे नहीं पता कि आप इसे मापते कैसे हैं।’’

उन्होंने पूछा ,‘‘जब लोग माइकल होल्डिंग और जोएल गार्नर और मैलकम मार्शल और कोलिन क्राफ्ट और एंडी रोबर्ट्स की बात करते हैं- जिन्होंने इतने साल एक साथ गेंदबाजी की- आप इसकी तुलना कैसे कर सकते हैं।’’

बिशप दुनिया भर के मौजूदा तेज गेंदबाजों में से सर्वश्रेष्ठ को चुनने में भी हिचक रहे थे।

उन्होंने कहा, ‘‘इतने सारे तेज गेंदबाज हैं। जोफ्रा आर्चर। नसीम शाह। जसप्रीत बुमराह। मोहम्मद शमी- मुझे शमी पसंद है। भारत का पूरा गेंदबाजी समूह, जहां मैं किसी को चुनकर यह नहीं कहना चाहता कि यह किसी दूसरे से बेहतर है।’’

बिशप ने हालांकि कहा कि फिलहाल सर्वश्रेष्ठ तकनीक आर्चर की है। उन्होंने साथ ही उत्तर प्रदेश के 21 साल के तेज गेंदबाज शिवम मावी और राजस्थान के 19 साल के कमलेश नागरकोटी को भारत के भविष्य के गेंदबाज बताया।

बिशप ने साथ ही कहा कि टी20 विश्व कप जीतने का मतलब यह नहीं है कि वेस्टइंडीज शुक्रवार से शुरू हो रही सीमित ओवरों की श्रृंखला में विराट कोहली की टीम को हराया पाएगा, हालांकि हमेशा ऐसी उम्मीद रहेगी।