Playing alongside SachinTendulkar and against Pakistan were highlights of my career: Venugopal Rao
Venugopal Rao with Sachin Tendulkar @Facebook page

पूर्व भारतीय बल्लेबाज वाई वेणुगोपाल राव ने मंगलवार को इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया। संन्यास लेने के एक दिन बाद बुधवार को कहा कि उनके छोटे से इंटरनेशनल करियर में सबसे अहम चीज सचिन तेंदुलकर के साथ खेलना रहा।

राव ने क्रिकेट करियर में मैदान के धुर विरोधी मानी जाने वाली टीम पाकिस्तान के खिलाफ खेलना अपने करियर का सबसे अहम मौका बताया। राव ने पाकिस्तान के खिलाफ साल 2006 में दो वनडे मुकाबले खेले जिसमें उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 61 रन रहा।

पढ़ें:- वेणुगोपाल राव ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से किया संन्‍यास का एलान

37 साल के राव ने मंगलवार को खेल के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा की। उन्होंने 2005 और 2006 के बीच 16 वनडे खेले जिसमें एक अर्धशतक की मदद से 218 रन जोड़े।

राव ने पीटीआई से कहा, ‘‘देश का प्रतिनिधित्व करना सम्मान की बात है। देश के लिए 500-600 लोग ही खेले हैं और मैं भी उनमें से एक हूं जो शानदार चीज है। खुश हूं कि महान खिलाड़ियों के साथ खेला जिसमें सचिन तेंदुलकर शामिल हैं।’’

पढ़ें:- टीम इंडिया के नए कोच के चयन में हो सकती है देरी, ये है वजह

उन्होंने कहा, ‘‘तेंदुलकर मेरे आदर्श हैं। मैं उनसे प्रेरित हुआ करता था। उनके साथ ड्रेसिंग रूम साझा करना सम्मान की बात है।’’

मौजूदा मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद के बाद राव आंध्र प्रदेश के दूसरे क्रिकेटर हैं जिन्होंने देश का प्रतिनिधित्व किया है। राव ने कहा कि अप्रैल 2006 में पाकिस्तान के खिलाफ खेलना उनके लिये बड़ा क्षण था। उन्होंने कहा, ‘‘हां, पाकिस्तान के खिलाफ हमेशा विशेष होता है। लेकिन देश का प्रतिनिधित्व करना बहुत विशेष है, विशेषकर अगर एक क्रिकेटर आंध्र में एक छोटे से गांव से आया हो।’’

उन्होंने कहा कि वह लंबे समय तक खेल सकते थे लेकिन फिर भी उन्हें पछतावा नहीं है।