1983 विश्‍व कप (ICC World Cup 1983) विजेता टीम के सदस्‍य यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma) के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने दुख जताया. यशपाल शर्मा का निधन दिल का दौरा पड़ने से हुआ है. प्रधानमंत्री ने इसपर दुख व्यक्त करते हुए उन्हें टीम के साथियों, प्रशंसकों के साथ-साथ उभरते क्रिकेटरों के लिए प्रेरणा बताया.

मगलवार सुबह यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma) ने अपनी अंतिम सांस ली. उन्‍होंने मध्यक्रम में अपनी जुझारू बल्लेबाजी के दम पर ही भारतीय क्रिकेट टीम में विशेष पहचान बनाई थी. वो 66 वर्ष के थे. उनके परिवार में पत्नी, दो बेटियां और एक बेटा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘ श्री यशपाल शर्मा जी 1983 की मशहूर टीम सहित भारतीय क्रिकेट टीम के बहुत प्रिय सदस्य थे. वह टीम के साथियों, प्रशंसकों के साथ-साथ उभरते क्रिकेटरों के लिए एक प्रेरणा थे. उनके निधन से शोक में हूं. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदना है. ओम शांति.’’

यशपाल (Yashpal Sharma) ने अपने करियर में भारत के लिए 37 टेस्ट और 42 वनडे खेले. टेस्ट क्रिकेट में 2 शतक के साथ उन्होंने 1,606 रन बनाए जबकि वनडे में उनके नाम 89 रन दर्ज हैं.

1983 विश्व कप की बात की जाए तो दिल्‍ली के यशपाल शर्मा कप्तान कपिल देव के बाद भारत के लिए सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे. उन्होंने दो अर्धशतकों के साथ 8 पारियों में 240 रन बनाए. इस विश्‍व कप से चार साल पहले यानी 1979 में यशपाल शर्मा (Yashpal Sharma) ने भारतीय टीम में टेस्‍ट डेब्‍यू किया था. इंग्लैंड के दौरे पर उन्‍हें भारत के लिए टेस्ट डेब्यू का मौका मिला. 1983 में उन्‍होंने अपना आखिरी अंतरराष्‍ट्रीय मैच खेला.