विकेटकीपर-बल्लेबाज दिनेश कार्तिक (Dinesh Karthik) ने तेज गेंदबाज प्रसिद्ध कृष्णा (Prasidh Krishna) की तारीफ करते हुए कहा कि उनकी मानसिकता भारत के ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) जैसी है। कृष्णा ने केपटाउन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आखिरी वनडे मैच में डेब्यू किया और कर्नाटक के इस तेज गेंदबाज ने 9.5 ओवर में 59 रन देकर तीन विकेट लेकर खेल में वापसी की।

कार्तिक का कहना है कि कृष्णा का अपना दिमाग है, थोड़ा अश्विन जैसा है जिसकी वजह से वो कई बार महंगा साबित होते है लेकिन वो निश्चित रूप से विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं।

कार्तिक ने क्रिकबज से बातचीत में कहा, “प्रसिद्ध … एक प्यारा लड़का है लेकिन उसकी गेंदबाजी में थोड़ी आज़ादी है। उसका अपना मन है; अगर मैं कहूं तो वो थोड़ा अश्विन जैसा है। उसका अपना दिमाग है, सोचने के अपने तरीके हैं। ये कभी-कभी सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों को आउट कर देता है, लेकिन कभी-कभी उन्हें रन बनाने के लिए भी प्रेरित करता है।”

25 साल के कृष्णा एक लंबे, दाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं, जिन्होंने अब तक नौ प्रथम श्रेणी, 54 लिस्ट ए और 54 टी20 मैच खेले हैं। उन्होंने अपने पेशेवर करियर में अब तक कुल मिलाकर 175 विकेट लिए हैं।

कार्तिक बताते हैं कि चूंकि कृष्णा, जो भारतीय घरेलू क्रिकेट में कर्नाटक का प्रतिनिधित्व करते हैं, एक विचारशील गेंदबाज हैं, इससे उन्हें डेथ ओवरों में एक अच्छी संभावना मिलती है।

कार्तिक ने कहा, “वो उन लोगों में से एक है जो आपको 10-40 (10 ओवर में 40 रन) नहीं फेंकेंगे, लेकिन वो निश्चित रूप से आपको 10-70 (10 ओवर में 70 रन देकर) और 2-3 विकेट देंगे। वो विकेट लेने वाला है लेकिन वो रन के लिए जाता है क्योंकि वो विकेट के लिए बहुत प्रयास करता है। वो एक आक्रामक गेंदबाज हैं।”

उन्होंने कहा, “वो कई तरह से अपने बारे में सोचता है। इसलिए वो इतना अच्छा डेथ बॉलर है – क्योंकि वो हिट होने से नहीं डरता। वो ऐसे गेंदबाज हैं जो प्रतिक्रिया देने में बहुत अच्छा है। अगर कोई क्रीज के चारों ओर घूमता है, बाहर कदम रखता है, तो उसे खेलना बहुत आसान नहीं है अगर आप इस तरह की चीजें करते हैं।”

कार्तिक ने आगे कहा, “इसलिए वो इतने अच्छे डेथ बॉलर हैं। नई गेंद शायद उनकी ताकत नहीं है; वो आखिरी के ओवरों में एक बेहतर गेंदबाज है। लेकिन आप जो देखेंगे, वो ये है कि नई गेंद अगर हिलती है, तो वो वहां भी एक शानदार गेंदबाज है। वह ऐसा व्यक्ति है जो मुझे विश्वास है कि निश्चित रूप से अपने उछाल की वजह से, जिस तरह से वो विकेट लेने की कोशिश करता है और अपनी मानसिकता के कारण बिना किसी संदेह के आपको लगातार कुछ विकेट दिलाएगा।”