India vs New Zealand: predicted for playing XI in 2nd t20 , Shubman Gill may make T20 debut
MS-Dhoni-Rohit-Sharma@ AFP

भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ तीन मैचो की टी20 सीरीज का पहला मुकाबला हारने के बाद सीरीज में बने रहने के लिए शुक्रवार को हर हाल में जीत दर्ज करना चाहेगी। पहले मुकाबले में गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों ही जगह कीवी टीम ने टीम इंडिया को मात दी थी। टी20 की सबसे बड़ी हार के बाद दूसरे मैच के लिए प्लेइंग इलेवन में बदलाव की पूरी उम्मीद है।

ओपनिंग में रोहित शर्मा और शिखर धवन

वेलिंग्टन में पहाड़ जैसे स्कोर का पीछा करने उतरी रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी बुरी तरह से नाकाम रही थी। रोहित और धवन दोनों ही रन बनाने में नाकाम रहे थे। दूसरे मुकाबले में जीत हासिल करनी है तो दोनों ही बल्लेबाजों को बड़ी पारी खेलनी होगी।

मिडिल आर्डर में बदलाव की संभावना

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले टी20 में भारतीय मिडिल ऑर्डर बुरी तरह से फेल रहा था। विजय शंकर ने बेहतर प्रदर्शन किया था लेकिन यह जीत के लिए काफी नहीं था। करो या मरो के मुकाबले में विराट कोहली की जगह वनडे में खेलने वाले युवा शुभमन गिल को टी20 में डेब्यू का मौका मिल सकता है। गिल के साथ रिषभ पंत शुरुआती विकेट गिरने पर रन बनाने का काम करेंगे।

महेंद्र सिंह धोनी ही निभाएंगे विकेटकीपर की भूमिका

टी20 की सबसे बड़ी हार में भी महेंद्र सिंह धोनी अकेले ऐसे बल्लेबाज थे जिन्होंने अंतिम तक संघर्ष किया। न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरे मुकाबले में विकेटकीपर की भूमिका धोनी ही निभाते नजर आएंगे।

ऑल राउंडर हार्दिक-क्रुणाल और 

हार्दिक ने भले ही बल्ले से पिछले मैच में कुछ कमाल नहीं दिखाया हो लेकिन गेंदबाजी में दो विकेट जरूर निकाले थे। हार्दिक बतौर ऑल राउंडर टीम में खेलते हैं लिहाजा उनसे कुछ अच्छी पारी की उम्मीद रहेगी। पिछले मैच में हार्दिक के अलवा विजय शंकर और क्रुणाल पांड्या भी खेले थे। टी20 फॉर्मेट में ऑलराउंडर की भूमिका को देखते हुए टीम दूसरे मुकाबले में भी तीनों खिलाड़ियों के प्लेइंग इलेवन में शामिल कर सकती है।

स्पिनर को लेकर थोड़ा पेंच

पहले टी20 में रोहित शर्मा ने युजवेंद्र चहल को कुलदीप की जगह तरजीह देकर टीम में शामिल किया था। दूसरे मुकाबले में भी स्पिन में कोई बदलाव किए जाने की संभावना कम ही लगती है।

तेज गेंदबाजी में भुवनेश्वर का साथ देंगे खलील

पहले मुकाबले में सभी गेंदबाजों की लगभग बराबर ही पिटाई हुई थी। भुवनेश्वर कुमार और खलील अहमद भी काफी महंगे साबित हुए थे। इस प्रदर्शन के बाद भी गेंदबाजी में बदलाव की संभावना कम ही दिख रही है।