Prithvi Shaw: I wouldn’t like to compare myself to a legend like Sachin Tendulkar
पृथ्वी शॉ (IANS)

अपने शॉट सेलेक्शन और बल्लेबाजी स्टाइल की वजह से युवा भारतीय सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ की तुलना दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के साथ की जाती रही है। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर मार्क वॉ ने भी उनके स्ट्रोक खेलने की तरीके की तुलना तेंदुलकर से की। हालांकि ये भारतीय बल्लेबाज ऐसा नहीं चाहता।

शॉ का कहना है कि वो अपनी तुलना सचिन से करना पसंद नहीं करते। टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, “मैं उनका (मार्क वॉ) शुक्रगुजार हूं जो उन्होंने मेरी तुलना सचिन सर से की लेकिन मैंने अपने करियर की शुरुआत ही की है और मैं खुद को सचिन सर जैसे दिग्गज से अपनी तुलना नहीं करना चाहूंगा। मेरे लिए ये सम्मान की बात होगी कि मैं उन जैसे दिग्गजों ने सीखता रहूं जिससे कि मेरे खेल में और मेरे व्यक्तित्व में सुधार होगा।”

डोपिंग बैन के बाद न्यूजीलैंड दौरे से टीम इंडिया में वापसी करने वाले शॉ ने बताया कि कोच रवि शास्त्री और कप्तान विराट कोहली ने उनका काफी समर्थन किया।

उन्होंने कहा, “जाहिर तौर पर विराट भाई और रवि सर ने डेब्यू से ही मेरा साथ दिया है। वो हमेशा ही मेरे साथ अच्छे से पेश आए हैं। उन्हें पता है कि मुझे कहां सुधार की जरूरत है। हम उसे लेकर काफी चर्चा करते हैं और वो मेरा समर्थन करते हैं। वो मुझपर और मेरे खेल पर भरोसा करते हैं। उन्हें लगता है कि मैं बल्लेबाजी और फील्डिंग में सुधार कर सकता हूं और मैं उस पर काम कर रहा हूं। कड़ी मेहनत और धैर्य का कोई विकल्प नहीं है।”

फिलहाल कोरोना वायरस की वजह से क्रिकेट पर लगे ब्रेक की वजह से घर पर बैठे शॉ का अगला लक्ष्य भारत के लिए विश्व कप खेलना है। उन्होंने कहा, “मैं विश्व कप खेलना चाहता हूं। बतौर कप्तान अंडर-19 विश्व कप जीतने के बाद, मैं सीनियर विश्व कप ट्रॉफी भी जातना चाहता हूं। वो मेरे और मेरे देश के लिए बड़ी बात होगी।