पृथ्वी शॉ © PTI
पृथ्वी शॉ © PTI

मुंबई के ओपनर और इंडिया अंडर 19 के कप्तान पृथ्वी शॉ देश के सबसे टैलेंटेड बल्लेबाजों में से एक हैं और उनके टैलेंट की परख MRF जैसी कंपनी को भी हो गई है शायद तभी इस कंपनी ने पृथ्वी शॉ से करार कर लिया है। जी हां सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली के बाद अब पृथ्वी शॉ भी मैदान पर MRF के बल्ले से खेलते नजर आएंगे। MRF ने हमेशा दिग्गजों के साथ ही करार किया है जिसमें ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ और वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ब्रायन लारा भी शामिल हैं। पृथ्वी शॉ ने तो अभी तक वनडे में डेब्यू भी नहीं किया है और उनके साथ MRF ने करार कर लिया है।

MRF से करार होने के बाद पृथ्वी शॉ ने खुशी जताई। शॉ ने बयान दिया, ‘मैं बेहद ही खुश हूं कि मेरे साथ MRF ने करार किया है। मैंने सचिन, ब्रायन लारा और विराट को MRF के बल्ले से शतक लगाते देखा है, अब मैं भी इस बल्ले से खेलूंगा जो कि फक्र की बात है।’ MRF के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर के एम माम्मेन ने भी पृथ्वी शॉ के साथ करार करने पर खुशी जताई। उन्होंने कहा, ‘हम पृथ्वी की क्रिकेट यात्रा से जुड़कर बेहद खुश हैं। शॉ एक खास टैलेंट हैं जो कि आने वाले समय में अच्छा प्रदर्शन करेंगे। हम उनको शुभकमनाएं देते हैं और अपने परिवार में उनका स्वागत करते हैं।’

टी10 लीग: बंगाल टाइगर्स और पंजाबी लीजेंड्स की टक्कर, मराठा अरेबियंस का सामना टीम श्रीलंका से
टी10 लीग: बंगाल टाइगर्स और पंजाबी लीजेंड्स की टक्कर, मराठा अरेबियंस का सामना टीम श्रीलंका से

पृथ्वी शॉ ने इसी साल फर्स्ट क्लास डेब्यू किया है और अपनी बल्लेबाजी से उन्होंने सभी को अपना कायल बना दिया है। शॉ ने 9 मुकाबलों में 56.52 के औसत से 961 रन बनाए हैं। जिसमें 5 शतक और 3 अर्धशतक शामिल हैं। शॉ ने रणजी ट्रॉफी और दिलीप ट्रॉफी के डेब्यू में शतक लगाकर सभी को हैरान कर दिया था। पृथ्वी दिलीप ट्रॉफी फाइनल में सबसे कम उम्र में शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं। पृथ्वी शॉ ने सिर्फ 17 साल 320 दिन की उम्र में ये कारनामा किया। पृथ्वी शॉ ने महज 17 साल 62 दिन की उम्र में मुंबई के लिए रणजी फाइनल में शतक जड़ा था। यही नहीं शॉ को न्यूजीलैंड में होने वाले अंडर 19 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम का कप्तान चुना गया है।