पृथ्वी शॉ  © PTI
पृथ्वी शॉ © PTI

रणजी ट्रॉफी का मौजूदा सीजन युवा क्रिकेटर पृथ्वी शॉ का मुरीद हो चला है। शॉ ने आंध्रप्रदेश के खिलाफ खेलते हुए एक और शतक जमा दिया है। ये पृथ्वी का प्रथम श्रेणी क्रिकेट में पांचवां शतक है। अब पृथ्वी सचिन तेंदुलकर के सबसे बड़े रिकॉर्ड 18 साल की उम्र के पहले 7 शतक लगाने के रिकॉर्ड के खासे करीब हैं।

जनवरी 2017 के साथ प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डेब्यू करने वाले शॉ ने पिछले दिनों ओडिशा के खिलाफ 105 रनों की पारी खेली थी। गौर करने वाली बात है कि पृथ्वी इसी महीने 18 साल के हुए हैं। इतनी कम उम्र में इस तरह की बल्लेबाजी काबिले तारीफ है। ऐसा मालूम होता है कि वह प्रथम श्रेणी क्रिकेट के विराट कोहली हों।

खबर लिखे जाने तक शॉ 154 गेंदों में 105 रन बनाकर नाबाद हैं। वह अबतक 13 चौके और 1 छक्का लगा चुके हैं। वहीं उनका साथ सिध्देश लाड निभा रहे हैं। लाड 35 रन बनाकर खेल रहे हैं। दोनों ही बल्लेबाज 102 रनों की साझेदारी निभा चुके हैं। मुंबई ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 166/3 का स्कोर बना लिया है।

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने के लिए उतरी मुंबई की शुरुआत खासी खराब रही थी और उसने अपने दो विकेट 20 रनों पर ही गंवा दिए थे। पहले जय गोकुल बिस्टा 4 को विजय कुमार ने प्रशांत कुमार के हाथों झिलवाया और बाद में श्रेयस अय्यर को 0 के स्कोर पर ही विजय कुमार ने श्रीकार भरत के हाथों कैच आउट करवाया। ऐसी विपरीत परिस्थिति में पृथ्वी ने सूर्यकुमार यादव (18) के साथ तीसरे विकेट के लिए साझेदारी की। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 44 रनों की साझेदारी निभाई। लेकिन तभी यादव (18) चलते बने।

बीपीएल में महिला प्रेजेंटर्स ने खिलाड़ियों से पूछे बेमतलब के सवाल, मचा बवाल
बीपीएल में महिला प्रेजेंटर्स ने खिलाड़ियों से पूछे बेमतलब के सवाल, मचा बवाल

ऐसे में लगा कि टीम मुंबई लुढ़क जाएगी लेकिन पृथ्वी ने गजब की बल्लेबाजी की और उन्हें संभाल लिया। अब ये देखना खासा दिलचस्प होगा कि पृथ्वी टीम को कहां तक ले जा पाते हैं।