Put pressure on KL Rahuls, rather than MS Dhoni to deliver: Sanjay Manjrekar
MS Dhoni during match against England

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की धीमी बल्लेबाजी के लिए लगातार आलोचना की जा रही है। पूर्व भारतीय बल्लेबाज संजय मांजरेकर का मानना है कि करियर के इस पड़ाव पर धोनी के स्ट्राइक रेट पर सवाल उठाना सही नहीं है। उनकी जगह केएल राहुल जैसे युवा खिलाड़ियों को अधिक जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए।

धोनी ने 31 गेंद में 42 रन बनाए। मांजरेकर को यह बात चौंकाने वाली लगी कि इस अनुभवी बल्लेबाज ने आखिरी ओवर्स में बड़ा शॉट नहीं लगाया लेकिन उन्होंने माना कि दूसरे बल्लेबाजों को अपना स्तर ऊंचा करना होगा।

पढ़ें:- धोनी ने जैसी बल्लेबाजी की, हम उससे खुश हैं: संजय बांगड़

मांजरेकर ने बांग्लादेश के खिलाफ मैच से पहले कहा, ‘‘यह वास्तव में अनुचित है कि करियर के इस स्तर पर भी सारा ध्यान सिर्फ धोनी पर है, क्या टीम में दूसरे बल्लेबाज नहीं है जो भारत को जीत दिलाने में मदद कर सकें। अगर ऐसा है तो यह भारतीय क्रिकेट के लिए अच्छा संकेत नहीं है।’’

मांजरेकर को लगता है कि राहुल को अपनी शुरुआत को बड़ी पारी में बदलना चाहिए और अपनी क्षमता के साथ न्याय करना चाहिए। मांजरेकर ने कहा, ‘‘धोनी पर इतना ज्यादा ध्यान नहीं होना चाहिए। ये बातें मीडिया में चर्चा के लिए हैं। अगर मैं भारतीय क्रिकेट का शुभचिंतक हूं तो राहुल और दूसरे बल्लेबाजों पर अच्छा प्रदर्शन करने का दबाव बनाउंगा जिससे धोनी जैसे खिलाड़ी से दबाव कम हो सके।’’

पढ़ें:- कोहली, रोहित को मिडिल ऑर्डर से समर्थन की जरूरत : श्रीकांत

मांजरेकर ने हालांकि माना कि अगर धोनी पारी के 20-25वें ओवर में बल्लेबाजी के लिए आते हैं तो उन्हें गेंद और रन के बीच में ज्यादा अंतर नहीं होने देना चाहिए।

उन्होंने कहा, ‘‘अगर टीम शुरुआत में दो विकेट गंवा देती है तब तो यह समझ में आता है। अगर वह 22वें या 25वें ओवर में बल्लेबाजी के लिए आते हैं तो उन्हों गेंद और रन में ज्यादा अंतर नहीं होने देना चाहिए।’’

टीम में मयंक अग्रवाल के आने से मांजरेकर खुश हैं। उन्होंने कहा,‘‘विजय शंकर का चोटिल होना दुर्भाग्यशाली है लेकिन मयंक के टीम में आने से मैं खुश हूं। मुझे लगता है मयंक शानदार खिलाड़ी है। उसका टीम से जुड़ना अच्छा है।’’