सलमान बट्ट ने 2010 में स्पॉट फिक्सिंग की थी © Getty Images
सलमान बट्ट ने 2010 में स्पॉट फिक्सिंग की थी © Getty Images

पाकिस्तान के बल्लेबाज सलमान बट्ट का ट्विटर पर जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है। दरअसल कायद-ए-आजम ट्रॉफी में WAPDA की कप्तानी कर रहे सलमान बट्ट ने टूर्नामेंट के दौरान बेईमानी की शिकायत की जिसके बाद फैंस ने उनका जमकर मजाक उड़ाया। दरअसल कायद-ए-आजम ट्रॉफी के दौरान पेशावर के खिलाफ मुकाबले में सलमान बट्ट की टीम सिर्फ 3 रन से मैच हार गई। बट्ट की कप्तानी में खेल रही WAPDA की टीम को 4 रन की जरूरत थी और उसका एक ही विकेट बचा था लेकिन पेशावर के गेंदबाज ताज वली ने मोहम्मद इरफान को मांकड़ के जरिए रन आउट कर दिया और सलमान बट्ट की टीम मुकाबला हार गई।

इस हार के बाद सलमान बट्ट काफी भड़क गए और उन्होंने कहा, ‘इस तरह के कानून का क्या फायदा कि जीतने वाली टीम गर्व से ज्यादा शर्म महसूस कर रही हो। हमारी टीम के लिए ये मुकाबला शानदार रहा। चार दिनों तक अच्छा मुकाबला हुआ। मैच में दोनों ही टीम हावी हुई लेकिन आखिर में मांकड़ ने पूरे मैच को खराब कर दिया। क्रिकेट में खेल भावना बहुत जरूरी है लेकिन इस मैच का अंत सही नहीं हुआ। ऐसे कानून का क्या फायदा कि जीत के बाद विरोधी टीम आपसे माफी मांग रही हो।’

WAPDA के कप्तान सलमान बट्ट के इस बयान के बाद फैंस ने उन्हें ट्विटर पर घेर लिया। बट्ट के बयान की कई फैंस ने धज्जियां उड़ा दी। फैंस ने कहा कि जिस सलमान बट्ट ने क्रिकेट जैसे खेल की इज्जत को तार-तार कर दिया आज वो खेल भावना दिखाने की दुहाई दे रहा है।

 

 

आपको बता दें साल 2010 में इंग्लैंड दौरे पर सलमान बट्ट ने स्पॉट फिक्सिंग की थी जिसके चलते उन पर दस साल का बैन लगा था लेकिन बाद में उनसे 5 साल का बैन हटाया गया। साल 2016 में कायद-ए-आजम ट्रॉफी से ही बट्ट ने पाकिस्तान के घरेलू क्रिकेट में वापसी की थी।

एबी डीविलियर्स का 'दीवाली धमाका', लगाया 68 गेंदों में शतक
एबी डीविलियर्स का 'दीवाली धमाका', लगाया 68 गेंदों में शतक

आपको बता दें स्पॉट फिक्सिंग मामले में जेल की सज़ा काट चुके पाकिस्तान के गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने एक इंटरव्यू के दौरान अपनी गलती मानते हुए कहा था कि पूर्व कप्तान सलमान बट्ट और बुकी महर माजिद ने उन्हें फिक्सिंग में फंसाया था।