Questions will be asked about Virat Kohli’s captaincy says Sunil Gavaskar
Virat Kohli reacts after being dismissed by Sam Curran © Getty Images

इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के दौरान साउथम्पटन में खेले गए चौथे मैच में भारतीय टीम को 60 रन से हार मिली। इस हार के साथ ही भारत के इंग्लैंड में टेस्ट सीरीज जीतने का सपना एक बार फिर से टूट गया। सीरीज में यह इंग्लैंड की तीसरी जीत थी जिसके बाद उसके पास 3-1 की अजेय बढ़त हो गई।

गावस्कर ने कोहली की कप्तानी पर उठाए सवाल

पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने टीवी चैनल आजतक से कहा- साल 2014 में जब विराट कोहली को कप्तानी दी गई थी तो उन्होंने टीम में एक नया जोश भरा था। भारतीय टीम के लिए असली परिक्षा ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैड और दक्षिण अफ्रीका का दौरा ही माना जा रहा था। वेस्टइंडीज और श्रीलंका से सीरीज जीतना कोई बड़ी बात नहीं है। यह भारतीय टीम के लिए एक प्रैक्टिस जैसा था।

भारतीय टीम को पिछले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में 1-2 से हार मिली थी। इंग्लैंड में पांच मैचों की हालिया सीरीज में भी भारतीय टीम 1-3 से पिछड़कर सीरीज गंवा चुकी है। विदेशी धरती पर कोहली की कप्तानी में यह टीम इंडिया की लगातार दूसरी सीरीज हार है।

कप्तान तभी सफल होगा जब टीम अच्छा करेगी

पूर्व कप्तान ने कहा -विराट कोहली ने एक बल्लेबाज के तौर पर उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया है लेकिन एक कप्तान तभी सफल हो पाता है जब टीम अच्छा करती है। हार बेहद निराशाजनक है और इसकी समीक्षा तो जरूर होनी चाहिए।

प्रैक्टिस मैच ना खेलने से फर्क पड़ा

गावस्कर ने कहा- भारतीय टीम को और प्रैक्टिस मैच खेलना चाहिए था। अगर टीम भरपूर प्रैक्टिस मैच खेलती तो उससे सीरीज में प्रदर्शन पर जरूर फर्क पड़ता। प्रैक्टिस से खिलाड़ियों को हालात समझने में मदद मिलती है।