दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर-बल्लेबाज क्विंटन डी कॉक (Quinton de Kock) ने रविवार को केपटाउन में भारत के खिलाफ तीसरे और आखिरी वनडे मैच में एक शानदार शतक बनाकर ना केवल महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) को पीछे छोड़कर एबी डिविलियर्स (AB de Villiers) की बराबरी की बल्कि वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है।

डी कॉक ने न्यूलैंड्स में 109 गेंदों में नौ चौके और दो छक्के लगाकर 100 रन का आंकड़ा पार किया। जिसकी मदद से दक्षिण अफ्रीका ने 287 रन का स्कोर खड़ा किया। इस शतक के साथ डी कॉक ने भारत-दक्षिण अफ्रीका वनडे सीरीज के इतिहास में सर्वाधिक शतक लगाने के तेंदुलकर के रिकॉर्ड को तोड़ कर पूर्व साथी बल्लेबाज डीविलियर्स की बराबरी कर ली है।

भारतीय दिग्गज तेंदुलकर के नाम भारत-दक्षिण अफ्रीका वनडे सीरीज में कुल पांच शतक लगाने का रिकॉर्ड है लेकिन छह शतक लगाकर अब डी कॉक उनसे आगे निकल गए हैं।

इसके अलावा डी कॉक ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पॉन्टिंग (Ricky Ponting) और श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा (Kumar Sangakkara) के साथ भारत के खिलाफ वनडे सीरीज में छह शतक लगाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। सनथ जयसूर्या (Sanath Jayasuriya) भारत के खिलाफ 85 पारियों में सात शतक लगाकर इस सूची में शीर्ष पर हैं।

इस बीच करियर का 17वां वनडे शतक लगाकर डी कॉक ने ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज एडम गिलक्रिस्ट को पीछे छोड़ते हुए वनडे मैचों में विकेटकीपर के रूप में सर्वाधिक शतक लगाने के सूची में दूसरा स्थान हासिल किया। श्रीलंकाई दिग्गज संगकारा 23 शतक लगाकर अब भी इस सूची में शीर्ष पर हैं।

साथ ही डी कॉक ने पूर्व भारतीय क्रिकेटर सहवाग के किसी एक टीम के खिलाफ छह शतक लगाने वाले सबसे तेज बल्लेबाज होने के रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया। वो भारत के खिलाफ सिर्फ 16 पारियों में इस उपलब्धि तक पहुंचे हैं, जबकि सहवाग ने न्यूजीलैंड के खिलाफ अपना छठां शतक बनाने के लिए 23 पारियां लीं थी।