Quinton De Kock: We stay persistent with our strategy and put pressure on India
क्विंटन डी कॉक और रीजा हेंड्रिक्स (IANS)

भारत के खिलाफ बड़ी जीत दर्ज करने के बाद दक्षिण अफ्रीका के कप्तान क्विंटन डी कॉक तीसरे और आखिरी टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में वापसी करते हुए सीरीज बराबर कराने के अपनी टीम के तरीके से काफी प्रभावित हैं।

भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए छह ओवर में एक विकेट पर 54 रन बनाकर अच्छी स्थिति में थी लेकिन इसके बाद मेहमान टीम ने जोरदार वापसी की।

डी कॉक ने दक्षिण अफ्रीका की नौ विकेट की जीत के बाद प्रेस काफ्रेंस में कहा, ‘‘उनकी शुरुआत काफी अच्छी रही लेकिन लड़कों ने जिस तरह वापसी की उससे मैं काफी प्रभावित हूं, उन्होंने हालात को काफी अच्छी तरह समझा, अपनी रणनीति पर कायम रहे, उन्होंने भारत पर दबाव बनाए रखा।’’

हार्दिक पांड्या का कैच लेकर शोएब मलिक के बराबर पहुंचे डेविड मिलर

डी कॉक ने 52 गेंद में 79 रन की नाबाद पारी खेलकर एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका की जीत में अहम भूमिका निभाई लेकिन शुरुआत में मेहमान टीम के लिए बल्लेबाजी करना आसान नहीं था।

दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ने कहा, ‘‘पहले चार ओवर में उन्होंने हमारे ऊपर काफी दबाव डाला, रन बनाने के काफी मौके नहीं दिए, काफी खराब गेंदें नहीं फेंकी, गेंद स्विंग कर रही थी। हम हालांकि डटे रहे और हमने सिर्फ दबाव से निपटने का प्रयास किया।’’

सीरीज में अपना पहला मैच खेल रहे बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ब्युरोन हेंड्रिक्स ने चार ओवर में 14 रन देकर दो विकेट चटकाए। डी कॉक ने हेंड्रिक्स के अलावा बाएं हाथ के स्पिनर ब्योर्न फोर्टुइन की भी सराहना की जिन्होंने 19 रन देकर दो विकेट हासिल किए।

बेंगलुरू टी20 में विराट कोहली-दीपक चाहर ने लिया गलत रीव्यू, फैंस ने लगाए धोनी-धोनी के नारे

टीम के उप कप्तान रासी वान डेर डुसेन ने कहा कि वे टेस्ट सीरीज से पहले मेजबान टीम को कड़ा संदेश देने में सफल रहे। उन्होंने कहा, ‘‘हमें दबाव में डालने के लिए वे पर्याप्त रन नहीं बना पाए और क्विंटन विश्व स्तरीय खिलाड़ी है, उन्होंने यहां इतने सारे मैच खेले हैं, उन्होंने उन्हें कोई मौका नहीं दिया।’’

डुसेन ने कहा, ‘‘हम आज यहां जीत दर्ज करने और कड़ा संदेश देने के लक्ष्य के साथ आए थे। कप्तान ने मोर्चे से अगुआई की।’’