R. Ashwin: Virat Kohli and I play with Passion
Virat with Ashwin @bcci

किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान आर अश्विन ने सीमारेखा पर उनका कैच लपकने के बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कप्तान विराट कोहली की प्रतिक्रिया को ज्यादा तूल नहीं देते हुए कहा कि वे दोनों जुनून के कारण इस तरह की प्रतिक्रिया देते हैं।

पढ़ें: ‘पोंटिंग और गांगुली से जो सीख रहा हूं, वह विश्व कप में काम आएगा’

बैंगलुरू और पंजाब की टीमों के बीच बुधवार को आईपीएल का 42वां मैच खेला गया। इस मैच को बैंगलुरू ने 17 रन से अपने नाम किया। पंजाब को आखिरी ओवर में 27 रन की जरूरत थी। अश्विन ने पहली गेंद पर छक्का लगाया लेकिन अगली गेंद पर लॉन्‍ग ऑन पर कोहली को कैच दे बैठे। कोहली ने इस पर अपने तरीके से जश्न मनाया।

पढ़ें: Dream11 Prediction: कोलकाता और राजस्‍थान की ड्रीम 11 टीम

अश्विन ने कहा, ‘मैं जुनून के साथ खेल रहा था और वह भी। इतनी सी बात है।’

‘हमारे लिए हर मैच अहम है’

बकौल अश्विन, ‘उन्होंने आखिरी तीन ओवर में 60 से ज्यादा रन बनाए जो नहीं बनाने चाहिए थे। हम उन हालात में फिनिश नहीं कर सके जबकि सीनियर खिलाड़ियों से इसकी अपेक्षा की जाती है। हमारे लिए हर मैच अहम है।’

बीच के ओवरों में पंजाब की पकड़ ढीली हो गई थी लेकिन निकोलस पूरन और डेविड मिलर ने मैच में लौटाया।

पढ़ें: हार के बाद अश्विन बोले- पावर प्‍ले में गेंदबाजी में सुधार की जरूरत

अश्विन ने कहा, ‘जब आप 200 रन के लक्ष्य का पीछा कर रहे हैं तो एक बल्लेबाज को तो 70-80 रन बनाने चाहिए। हम ऐसा नहीं कर सके। हमारे दस ओवर में 105 रन थे लेकिन बीच के ओवरों में हमने लय खो दी। निकोलस पूरन ने अच्छा खेला और हमें मैच में लौटाया। यह निराशाजनक रहा कि हम जीत नहीं सके।’

उन्होंने कहा कि एबी डिविलियर्स पर अंकुश लगाना जरूरी था जिसने आखिरी ओवरों में धुंआधार पारी खेली । उन्होंने कहा, ‘एबी डिविलियर्स ऐसे खिलाड़ी हैं जो उन ओवरों में मैच का नक्शा बदल सकते हैं। उनपर अंकुश लगाना जरूरी था। हम आखिरी दो तीन ओवर में ऐसा कर ही नहीं सके।’