राहुल द्रविड़ © IANS
राहुल द्रविड़ © IANS

भारत की राष्ट्रीय टीम के लिए प्रतिभाशाली क्रिकेटरों को तराशने और युवाओं को राष्ट्रीय टीम के लिए तैयार करने की जिम्मेदारी निभा रहे भारत के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने टेस्ट टीम के कोच अनिल कुंबले और कप्तान विराट कोहली की जमकर तारीफ की। राहुल ने कहा कि कुंबले और कोहली ने टीम में ऐसा वातावरण तैयार किया है जिससे युवा खिलाड़ी खुद को सुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

भारतीय अंडर-19 के खिलाड़ी करुण नायर और जयंत यादव के राष्ट्रीय टीम में बेहतरीन प्रदर्शन पर राहुल द्रविड़ ने कहा कि ये सब एक अच्छी प्रक्रिया का नतीजा है। ये अच्छी बात है कि अंडर19 टीम के युवा खिलाड़ी मौका मिलने पर शानदार खेल दिखा रहे हैं। मेरे ख्याल से इनके प्रदर्शन से ये उस प्रकिया को श्रद्धांजलि है राष्ट्रीय टीम में तैयार की गई है, कि आप आइए और खुद को सुरक्षित मानकर अपना सर्वश्रेष्ठ दीजिए। और यही कारण है कि युवा खिलाड़ी बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। ये भी पढ़ें: साल 2016 में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज

राहुल द्रविड़ जिन्होंने करुण नायर को इंडिया ए, दिल्ली डेयरडेविल्स और राजस्थान रॉयल्स में खेलते देखा है, उनके तिहरे शतक की उपलब्धि से खासा खुश दिखे। राहुल ने कहा, ‘ये वाकई बेहतरीन होता है, अपने पहले ही शतक को तिहरे में बदलना अतुल्य है। करुण नायर के अंदर रनों की भूख और खेलने का जज्बा साफ दिखाई देता है। मुझे हमेशा खुशी होती है जब भी कोई युवा अच्छा करता है। मुझे उम्मीद है कि करुण नायर यहां से बहुत आगे जाएगा और ढेरों रिकॉर्ड बनाएगा। नायर प्रतिभाशाली बल्लेबाज हैं, ये काफी अच्छा है कि करुण और जयंत जैसे खिलाड़ी राष्ट्रीय टीम में अच्छा कर रहे हैं। हार्दिक पंड्या को भी टेस्ट मैचों में खेलने का मौका मिला था लेकिन वह चोटिल हो गए और टीम का हिस्सा नहीं बन पाए।’

राहुल ने कहा कि हम हमेशा राष्ट्रीय टीम के संपर्क में रहते हैं और उनके अनुसार ही खिलाड़ियों को ढूंढने का प्रयास करते हैं। कोचिंग का मतलब खिलाड़ियों को खिलाड़ी के तौर पर ही निखारना नहीं होता बल्कि उन्हें एक अच्छा इनसान बनाने का भी होता है जिससे वह लंबा और अच्छा करियर बना सकें।