Rahul Dravid: this controversy might be the catalyst that would lead KL Rahul-Hardik Pandya to reach their full potential
KL Rahul, Hardik Pandya (Getty Images)

पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ मौजूदा क्रिकेटर हार्दिक पांड्या और केएल राहुल पर लगे बैन के हटने से खुश हैं। द्रविड़ ने ईएसपीएनक्रिकइंफो को दिए बयान में कहा, “मैं खुश हूं कि सस्पेंशन हट गया है। जांच प्रक्रिया चल रही है जिसे पूरा किया जाना चाहिए।”

अंडर-19 और भारत ए के कोच के तौर पर पांड्या और राहुल दोनों खिलाड़ियों के साथ काम कर चुके द्रविड़ का मानना है कि इन दोनों क्रिकेटरों में अब भी रोल मॉडल बनने की क्षमता है।

ये भी पढ़ें: इमाम उल हक का शतक बेकार, रीजा हेंड्रिक्स ने दक्षिण अफ्रीका को जीत दिलाई

द्रविड़ ने कहा, “मुझे इस बात में कोई शक नहीं है। मैंने अलग अलग स्तर पर दोनों खिलाड़ियों को कोच किया है। मुझे नहीं लगता कि उस इंटरव्यू ने उन दोनों की शख्सियत को पूरी तरह से दिखाया। उम्मीद है कि वो मजबूत वापसी करेंगे। मैं ईमानदारी से कहूंगा, मुझे लगता है कि दोनों खिलाड़ियों ने अब भी अपनी पूरी क्षमता हासिल नहीं की है और ये (विवाद) उन्हें खेल के सभी फॉर्मेट में अपनी पूरी क्षमता तक पहुंचने में उत्प्रेरक के तौर पर मदद करेगा। अगर वो ऐसा कर पाते हैं तो वो रोल मॉडल बन सकते हैं।”

राहुल द्रविड़ ने अपने साथी खिलाड़ी वीवीएस लक्ष्मण के उस बयान से सहमति जताई, जिसमें लक्ष्मण ने कहा था कि ‘भारत में क्रिकेटर होना बहुत मुश्किल है, इतनी लोकप्रियता और पैसे को संभालना मुश्किल होता है’।

ये भी पढ़ें: कप्तान जेसन होल्डर के दोहरे शतक से विंडीज मजबूत

कोच द्रविड़ ने कहा, “आपको ऐसे में एक मजबूत स्पोर्ट सिस्टम की जरूरत होती है। आपको ये निश्चित करना होगा की आपको सही लोगों का समर्थन मिल रहा है, जो कि आपके हित का ध्यान रखेंगे और कभी कभी आपको ऐसी चीजों बताएंगे जो कि आप सुनना नहीं चाहते। अक्सर कम उम्र में पैसा और सफलता मिलने पर आप सावधान नहीं रहते और अपने आपको इस तरह के लोगों से घेर लेते हैं जो वही कहते हैं जो आप सुनना चाहते हैं, ये खतरनाक है।”