Rahul Dravid yet to take NCA charge over potential conflict of interest
Rahul Dravid

पूर्व भारतीय दिग्गज और मौजूदा भारतीय अंडर 19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ ने हितों के संभावित टकराव के कारण राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में क्रिकेट प्रमुख का पद अभी तक नहीं संभाला है। राहुल को सोमवार एक जुलाई को पदभार ग्रहण करना था।

द्रविड़ इंडिया सीमेंट के वैतनिक कर्मचारी हैं और बीसीसीआई संविधान के अनुसार कोई एक व्यक्ति एक समय में कई पदों पर नहीं रह सकता है। इससे यह पूर्व कप्तान हितों के टकराव के दायरे में आ जाता है।

पढ़ें:- यूरो स्लैम टी20 लीग से बतौर मर्की प्लेयर जुड़े डेल स्टेन

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा, ‘‘द्रविड़ ने अभी एनसीए में पदभार नहीं संभाला। उन्हें एनसीए से जुड़ने के लिए संभवत: इंडिया सीमेंट से त्यागपत्र देना होगा।’’

पिछले महीने बीसीसीआई के नैतिक अधिकारी डी के जैन ने वीवीएस लक्ष्मण के खिलाफ फैसला सुनाया था। इस पूर्व बल्लेबाज के कई पदों पर होने के कारण मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के सदस्य संजीव गुप्ता ने हितों के टकराव का आरोप लगाया था।

पढ़ें:- भारत को उलटफेर का शिकार बनाकर जीत से करेंगे अंत: धनंजय

गुप्ता ने जैन और प्रशासकों की समिति (सीओए) को 30 जून को लिखित शिकायत करके द्रविड़ के खिलाफ भी इसी तरह के आरोप लगाये थे।
पूर्व भारतीय कप्तान और जूनियर टीम के कोच द्रविड़ को बेंगलुरू में एनसीए में दो साल के अनुबंध की पेशकश की गई है। इस नए पद का

मतलब होगा कि वह भारत ए और अंडर-19 टीमों के साथ विभिन्न दौरों पर नहीं जा पाएंगे जैसा कि वह पहले किया करते थे।
पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज पारस म्हाम्ब्रे और अभय शर्मा जूनियर टीम के सहयोगी स्टाफ का हिस्सा बने रहेंगे।