Rahul Johri undergoes gender sensitisation workshop
Rahul-Johri (File Photo) © IANS

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सीईओ राहुल जौहरी को लैंगिक संवेदनशील काउंसलिंग सत्र से गुजरना पड़ा जिसकी सिफारिश उनके खिलाफ यौन उत्पीड़न के आरोपों की जांच करने वाली स्वतंत्र समिति की सदस्य और वकील वीना गौड़ा ने की थी।

पढ़ें: BCCI CEO राहुल जौहरी यौन उत्पीड़न मामले में बरी

यह सिफारिश सीईओ पर बाध्यकारी नहीं थी क्योंकि जांच समिति ने पिछले साल नवंबर में उन्हें सर्वसम्मति से आरोपमुक्त करार दिया था। इस समिति में गौड़ा के अलावा न्यायमूर्ति राकेश शर्मा और बरखा सिंह शामिल थे।

बीसीसीआई की आंतरिक शिकायत समिति (आईसीसी) की भी स्वतंत्र सदस्य गौड़ा ने जौहरी के लिए लैंगिक संवेदनशील काउंसिलिंग की सिफारिश की थी।इसी सिफारिश के आधार पर ‘रेनमेकर’ नामक कंपनी ने मंगलवार को मुंबई में बीसीसीआई मुख्यालय में जौहरी के साथ एक सत्र आयोजित किया।

पढ़ें: राहुल जौहरी पर लगे आरोपों की जांच के लिए कमिटी गठित

यह कंपनी पोश (कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न से बचाव) में विशेषज्ञ मानी जाती है। कंपनी ने इसके साथ ही बीसीसीआई की दस महिला कर्मचारियों के साथ भी एक सत्र का आयोजन किया जिसमें यौन उत्पीड़न के खिलाफ बचाव को लेकर उन्हें उनके अधिकारों से अवगत कराया गया।

जौहरी के खिलाफ सोशल मीडिया पर एक अज्ञात व्यक्ति की पोस्ट में उत्पीड़न के आरोप लगाए गए थे। इस पोस्ट को बाद में हटा दिया गया था।

(इनपुट-भाषा)