सुनील गावस्कर © Getty Images
सुनील गावस्कर © Getty Images

भारत के दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ियों में शुमार सुनील गावस्कर ने शनिवार को इतिहासकार और प्रशासक समिति (सीओए) से इस्तीफा देने वाले रामचंद्र गुहा के हितों के टकराव के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए उन्हें बेबुनियाद बताया है। गुहा ने हाल ही में बीसीसीआई में हितों के टकराव का हवाला देते हुए सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित सीओए के चैयरमैन विनोद राय को अपना इस्तीफा सौंपा। गुहा ने गावस्कर पर निशाना साधते हुए कहा था कि खिलाड़ियों के प्रबंधन कंपनी के मालिक होने के बावजूद गावस्कर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) में कांमेंटेटर की भूमिका निभा रहे हैं जो हितों के टकराव का मामला है।

गावस्कर ने समाचार चैनल एनडीटीवी से कहा, “कोई जब मेरी ईमानदारी पर सवाल उठाता है तो मुझे निराशा होती है। मेरा कहीं से कहीं तक हितों के टकराव का मामला नहीं है।” अपने इस्तीफे में गुहा ने बीसीसीआई पर पूर्व खिलाड़ियों और हाई प्रोफाइल लोगों का समर्थन करने के आरोप लगाए थे।

गुहा ने अपने इस्तीफे में लिखा था, “मैंने हमेशा से यह बात उठाई है कि बीसीसीआई जिनको कमेंट्री अनुबंध देती है, वह खिलाड़ियों के एजेंट के रूप में काम करते हैं।” उन्होंने लिखा है, “सुनील गावस्कर एक कंपनी के मालिक हैं जो भारतीय क्रिकेट खिलाड़ियों का प्रबंधन देखती है, साथ ही वह बीसीसीआई के लिए कमेंट्री भी करते हैं। यह साफ-साफ हितों के टकराव का मामला है। या तो उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए या फिर कंपनी से नाम वापस ले लेना चाहिए।”

गावस्कर ने हालांकि इस बात से साफ इनकार किया है कि उन्होंने अपने ओहदे का दुरुपयोग किया है। उन्होंने कहा, “एक उदाहरण बताइए जब मैंने चयन को प्रभावित किया हो। मैंने जितना भारतीय क्रिकेट के लिए किया है उससे ज्यादा भारतीय क्रिकेट ने मेरे लिए किया है। मेरी ईमानदारी पर सवाल उठाना निराशाजनक है।”

उन्होंने कहा, “क्या रामचंद्र गुहा की मुझसे ज्यादती दुश्मनी थी जो उन्होंने मेरा नाम सार्वजनिक रूप से लिया?” गुहा ने बीसीसीआई में सुपर स्टार कल्चर की आलोचना करते हुए कहा है कि महेंद्र सिंह धौनी टेस्ट से संन्यास ले चुके हैं, फिर भी उन्हें ग्रेड-ए अनुबंध दिया गया है। इस पर गावस्कर ने कहा, “धौनी को ग्रेड-ए अनुबंध इसलिए दिया गया है क्योंकि वह शानदार खिलाड़ी हैं। आप भारतीय क्रिकेट में धौनी के योगदान पर कैसे सवाल उठा सकते हैं।” गावस्कर ने कहा, “अगर सुपर स्टार कल्चर है तो फिर ईष्या की संस्कृति भी है।”