मोहम्मद हफीज और शाहिद आफरीदी के बाद पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज रजा (Rameez Raza) ने फिक्सिंग मामले में दोषी पाए गए खिलाड़ियों के बैन खत्म होने के बाद टीम में वापसी करने पर ऐतराज जताया है। यहां तक कि रजा ने तो ऐसे खिलाड़ियों को किराने की दुकान खोलने की सलाह तक दे डाली।

रमीज ने स्पॉट फिक्सिंग मामले में जेल की सजा काट चुके मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir) जैसे खिलाड़ियों को राष्ट्रीय टीम में जगह देने की आलोचना की। उन्होंने कहा, ‘‘अगर आप मुझे से पूछेंगे तो मेरा सुझाव होगा कि इन दागी क्रिकेटरों को राशन की दुकान खोल लेनी चाहिए। इस बात में कोई शक नहीं है कि बड़े नामों को छूट देने से पाकिस्तान क्रिकेट को भी नुकसान पहुंचा है।’’

दरअसल आमिर की राष्ट्रीय टीम में वापसी को उदाहरण बनाकर पाकिस्तान सुपर लीग 2015 के दौरान स्पॉट फिक्सिंग मामले में आरोपी साबित हुए सलामी बल्लेबाज शरजील खान पांच साल का बैन खत्म होने के बाद पाक टीम में वापसी की कोशिश कर रहे हैं। हालांकि हफीज जैसे सीनियर खिलाड़ियों ने इसका विरोध किया है।

कोहली से भी बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं बाबर आजम

फिक्सिंग पर बातचीत के दौरान रजा ने पाकिस्तानी के युवा बल्लेबाज बाबर आजम (Babar Azam) की तारीफ करते हुए कहा कि अगर सही माहौल मिला तो वो भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) से अच्छा प्रदर्शन कर सकते है।

उन्होंने कहा, ‘‘इसमें कोई शक नहीं बाबर आजम में क्षमता है, वो विश्व स्तरीय खिलाड़ी है। जब लोग बाबर की तुलना विराट कोहली और स्टीव स्मिथ जैसे खिलाड़ियों से करते हैं और इस बारे में मुझे से पूछते है तो मैं कहता हूं कि वह कोहली से भी बेहतर कर सकते हैं लेकिन उन्हें एक खिलाड़ी और कप्तान के रूप में खुद को अभिव्यक्त करने के लिए अनुकूल माहौल और स्वतंत्रता की जरूरत है।’’