Rangana Herath: It’s a dream to win a Test in India
रंगना हैराथ मौजूदा श्रीलंका टेस्ट टीम के सबसे सफल स्पिन गेंदबाज हैं © Getty Images

पाकिस्तान के खिलाफ यूएई में टेस्ट सीरीज जीतने में श्रीलंका के सबसे अहम गेंदबाज साबित हुए रंगना हैराथ अब भारत की जमीन पर टेस्ट मैच जीतना चाहते हैं। दरअसल श्रीलंका कभी भी भारत में कोई टेस्ट मैच नहीं जीत पाई है और हैराथ इस सिलसिले को 16 नवंबर से शुरू होने वाली सीरीज में तोड़ना चाहते हैं। हैराथ ने क्रिकबज को दिए बयान में कहा, “यह मेरा सपना है। भारत में टेस्ट मैच जीतना कितना शानदार होगा क्योंकि हमने पहले कभी यहां जीत हासिल नहीं की है।”

पाकिस्तान के खिलाफ मिली जीत अहम

श्रीलंका टीम नवंबर में 3 टेस्ट मैचों की सीरीज के लिए भारत का दौरा करेगी। पहला मैच 16 नवंबर को कोलकाता में खेला जाएगा। इसके बाद दूसरा टेस्ट नागपुर में 24 नवंबर से और सीरीज का तीसरा और आखिरी टेस्ट दिल्ली में 2 दिसंबर से खेला जाएगा। हाल ही में श्रीलंका यूएई में पाकिस्तान को टेस्ट सीरीज हराने वाली पहली टीम बनी है, इस सीरीज में मिली जीत से श्रीलंका टीम को हौसला मिला है। इस बारे में हैराथ ने कहा, “पाकिस्तान के खिलाफ मिली सीरीज जीत से हमारा हौसला बढ़ा है। जीत की मानसिकता काफी जरूरी है। अगर हम भारत के खिलाफ भी वैसी ही मानसिकता दिखाएं, जैसी हमने पाकिस्तान के खिलाफ दिखाई थी तो हम वहां भी जीत हासिल कर सकते हैं।”

रणजी क्रिकेट से भारतीय खिलाड़ियों को फायदा

भारत के खिलाफ 3 मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए श्रीलंका टीम का ऐलान
भारत के खिलाफ 3 मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए श्रीलंका टीम का ऐलान

हैराथ ने भारतीय प्रथम श्रेणी क्रिकेट के बारे में बात करते हुए कहा, “उनके पास काफी अनुभव है। भारत के पास बेहतरीन प्रथम श्रेणी क्रिकेट संरचना है। अगर आप रणजी क्रिकेट को देखें तो वो बल्लेबाजों को बड़ी पारियां खेलने के लिए तैयार करता है। यह गेंदबाजों को फ्लैट विकेट पर खेलते समय ज्यादा गेंदबाजी विकल्प तैयार करना सिखाता है। जबकि हमारे पास इस तरह की चुनौतियां नहीं होती हैं। केवल ए टीम क्रिकेट में हमारे खिलाड़ी इस तरह की चुनौतियों के लिए तैयार होते हैं।”

साझेदारियां ना तोड़ पाने की वजह से हारे टेस्ट सीरीज

हाल ही में टीम इंडिया ने श्रीलंका दौरे पर खेली टेस्ट सीरीज में 3-0 से जीत दर्ज की थी। श्रीलंका की हार के बारे में बात करते हुए हैराथ ने कहा, “भारत के खिलाफ घरेलू सीरीज में मैं विकेट नहीं ले पाया। हम सभी ने संघर्ष किया। हम साझेदारी तोड़ नहीं पाए और उन्होंने 600 से ज्यादा का स्कोर बना दिया, जहां से मैच जीतना हमारे लिए मुश्किल हो गया। हमने कई मौके भी गंवाए। हमने योजना बनानी होगी कि हमे 20 विकेट निकालने के लिए क्या करना है।”