चेतेश्वर पुजारा  © Getty Images (File photo)
चेतेश्वर पुजारा © Getty Images (File photo)

चेतेश्वर पुजारा अब भारतीय क्रिकेट के एक और शिखर पुरुष के रूप में उभर रहे हैं। पिछले कुछ समय से गजब की फॉर्म में चल रहे पुजारा ने रणजी ट्रॉफी 2017-18 सीजन के चौथे राउंड में एक और दोहरा शतक जड़ दिया है। सौराष्ट्र की ओर से खेलते हुए पुजारा ने झारखंड के खिलाफ 355 गेंदों में 204 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 28 चौके जमाए।

पुजारा ने इस दोहरे शतक के साथ इतिहास रच दिया है। उनका फर्स्ट क्लास क्रिकेट में ये 12वां दोहरा शतक है। इस तरह से वह भारत के लिए फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने के मामले में दूसरे नंबर पर पहुंच गए हैं। उन्होंने इस दौरान विजय मर्चेंट 11 दोहरे शतकों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया। भारत की ओर से फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे ज्यादा 14 दोहरे शतक लगाने का रिकॉर्ड आर एस रणजीत सिंहजी के नाम है जिन्होंने 14 दोहरे शतक लगाए हैं

पुजारा टेस्ट क्रिकेट में भी दोहरे शतक लगाने के मामले में ज्यादा पीछे नहीं हैं उन्होंने अबतक 51 टेस्ट में ही 3 दोहरे शतक लगा दिए हैं। टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा दोहरे शतक लगाने का रिकॉर्ड डॉन ब्रैंडमेन के नाम है उन्होंने 12 दोहरे शतक लगाए हैं। अब ये देखना खासा दिलचस्प होगा कि वह इस रिकॉर्ड को तोड़ पाते हैं कि नहीं।

पुजारा के शानदार 204 रनों की बदौलत सौराष्ट्र ने पहली पारी में 553/9 के स्कोर के साथ अपनी पारी घोषित कर दी। पुजारा के अलावा चिराग जानी ने भी शतक जमाया और वह 108 रन बनाकर आउट हुए। इनके अलावा प्रेरक मांकड़ 85 रन बनाकर आउट हुए। झारखंड की ओर से वरुण एरॉन, आशीष कुमार ने 3-3 विकेट झटके, शाहबाज नदीम ने 2 और कौशल सिंह ने एक विकेट झटका। जवाब में बैटिंग करने उतरी झारखंड टीम ने दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक पहली पारी में 1 विकेट पर 32 रन बना लिए हैं। वे अभी भी पहली पारी के आधार पर 521 रन पीछे हैं।