सुरेश रैना  © Getty Images
सुरेश रैना © Getty Images

टीम इंडिया में वापसी की कोशिश में जुटे विस्फोटक बल्लेबाज सुरेश रैना के दिन अच्छे नहीं चल रहे हैं। एक तरफ जहां वो ‘यो-यो’ टेस्ट नहीं पास कर पा रहे हैं तो दूसरी तरफ बल्ला भी उनका साथ नहीं दे रहा है। रणजी ट्रॉफी में रैना का फ्लॉप शो जारी है और राउंड-5 में असम के खिलाफ पहली पारी में वो सिर्फ 6 रन बनाकर आउट हो गए। इस पूरे सीजन में अब तक रैना अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे हैं और रन बनाने के लिए संघर्ष करते नजर आए हैं।

रैना ने मौजूदा रणजी ट्रॉफी में असम के खिलाफ पहली पारी में (6), रेलवे के खिलाफ (6 और 29), महाराष्ट्र के खिलाफ (0 और 5), दिल्ली के खिलाफ (10 और 16) रन ही बनाए हैं। रैना के सातों पारियों के स्कोर को जोड़ दिया जाए तो ये सिर्फ 72 पहुंचता है और इस दौरान उनका औसत महज 10.28 का ही रहा है। खास बात ये है कि इन 7 पारियों में वो एक बार भी 30 के पार का स्कोर नहीं कर पाए हैं। वहीं इस दौरान वो 4 पारियों में दोहरे अंक को भी नहीं छू पाए। साफ है इस तरह का स्कोर कर रैना कभी भारतीय टीम में वापसी नहीं कर पाएंगे।

करियर में तीसरी बार मोहम्मद हफीज का गेंदबाजी एक्शन संदिग्ध पाया गया, देना होगा टेस्ट
करियर में तीसरी बार मोहम्मद हफीज का गेंदबाजी एक्शन संदिग्ध पाया गया, देना होगा टेस्ट

रैना वनडे में टीम इंडिया से 2 साल से बाहर चल रहे हैं। रैना ने आखिरी वनडे 25 अक्टूबर, 2017 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेला था। इसके बाद से वो वनडे टीम में वापसी नहीं कर सके हैं। वनडे रिकॉर्ड की बात करों तो उन्होंने 223 मैचों में 35.46 के औसत से 5,568 रन बनाए हैं। इस दौरान उनके बल्ले से 5 शतक, 36 अर्धशतक निकले हैं। वहीं उन्होंने आखिरी टी20 मैच 1 फरवरी, 2017 को खेला था। इसके बाद से वो टी20 टीम से भी बाहर हैं। रैना ने टी20 में भारत के लिए अब तक 65 मैच खेले हैं। इस दौरान रैना ने 29.70 के औसत और 132.96 के स्ट्राइकरेट से 1,307 रन बनाए हैंय़ टी20 में रैना के नाम 1 शतक, 4 अर्धशतक हैं।