Ranji Trophy 2018-19: Bihar vs Nagaland, Jharkhand vs Services, Vidarbha vs Gujarat

विवेक कुमार (61 रन पर चार विकेट) और आशुतोष अमन (26 रन पर तीन विकेट) की शानदार गेंदबाजी के दम पर बिहार ने रणजी ट्रॉफी 2018-19 प्लेट ग्रुप के मैच में सोमवार को नगालैंड के 112 रन पर सात विकेट झटक कर जीत की तरफ कदम बढ़ा दिये।

मंगलवार को अंतिम दिन के खेल में बिहार को जीत के लिए तीन विकेट की जरूरत है जबकि नगालैंड को हार टालने के लिए पूरा दिन बल्‍लेबाजी करनी होगी। पहली पारी में 59 रन से पिछड़ने वाली बिहार की टीम ने तीसरे दिन की शुरूआत तीन विकेट पर 255 रन से की और कल के नाबाद बल्लेबाज मंगल मेहरूर (177) और एमडी रहमतुल्लाह (107) ने चौथे विकेट के लिए 177 रन की साझेदारी की। उत्कर्ष भास्कर (46) और विकास रंजन (53) ने भी उपयोगी पारी खेली। बिहार ने दूसरी पारी आठ विकेट पर 504 रन पर घोषित की जिससे नगालैंड को जीत के लिए 446 रन का लक्ष्य मिला।

पढ़ें:- ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड के खिलाफ टीम का ऐलान, वनडे-टी20 में धोनी की वापसी

नगालैंड के लिए अबरार काजी ने पांच और रजत भाटिया ने दो विकेट लिये। जीत के लिए 446 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी नगालैंड के लिए दूसरी पारी में कप्तान रोंगसेन जोनाथन (नाबाद 57) के अलावा कोई और टिककर नहीं खेल सका। स्टंप्स के समय जोनाथन के साथ इनाकातो झिमोमी (18) क्रीज पर मौजूद थे।

झारखंड बनाम सेना

उत्कर्ष सिंह के शतक की मदद से झारखंड ने रणजी ट्राफी एलीट ग्रुप सी के मैच के तीसरे दिन दूसरी पारी में 343 रन बनाकर सेना को 270 रन का लक्ष्य दिया।

अपने कल के स्कोर एक विकेट पर 49 रन से आगे खेलते हुए झारखंड ने दूसरी पारी में 343 रन बनाये। सलामी बल्लेबाज कुमार देबब्रत ने 53 और उत्कर्ष सिंह ने 114 रन बनाये।

देबब्रत ने 87 गेंदों में सात चौकों की मदद से अर्धशतक बनाया जबकि उत्कर्ष ने 234 गेंदों का सामना करके अपनी पारी में 12 चौके जड़े । अनुकूल राय ने 50 और ईशांक जग्गी ने 40 रन बनाये।

पढ़ें:- बॉक्सिंग डे टेस्ट में शतक बनाने का पूरा यकीन: अजिंक्य रहाणे

सेना के लिये रजत पालीवाल ने तीन विकेट लिये। इससे पहले झारखंड के 193 रन के जवाब में सेना ने पहली पारी में 267 रन बनाये थे।

विदर्भ बनाम गुजरत

सिद्धार्थ देसाई के करियर के सर्वश्रेष्ठ आठ विकेट के बावजूद विदर्भ ने रणजी ट्रॉफी एलीट ग्रुप ए मैच में सोमवार को तीसरे दिन गुजरात के खिलाफ पहली पारी में 164 रन की बढ़त हासिल की।

विदर्भ ने सोमवार को तीन विकेट पर 238 रन से शुरुआत की और कल के नाबाद बल्लेबाज गणेश ने 75 रन बनाये। वाखरे ने 55 और विकेटकीपर वाडकर ने 88 रन की पारियों से टीम ने पहली पारी में 485 रन बनाये।

देसाई ने 43.5 ओवर में 148 रन देकर आठ विकेट लिये। चिंतन गाजा और अर्जन नागवास्वाला को एक-एक विकेट मिला। गुजरात की दूसरी पारी में शुरूआत अच्छी नहीं रही और कप्तान प्रियांक पंचाल (2) सस्ते में चलते बने। स्टंप्स के समय गुजरात का स्कोर एक विकेट पर 22 रन था और टीम अब भी विदर्भ से 142 रन पीछे है और उसके नौ विकेट शेष है। गुजरात की पहली पारी में 321 रन सिमटी थी।

तमिलनाडु बनाम हिमाचल प्रदेश

अनुभवी सलामी बल्लेबाज अभिनव मुकुंद की नबाद 111 रन की पारी से तमिलनाडु ने रणजी ट्रॉफी एलीट ग्रुप बी मैच में सोमवार को तीसरे दिन हिमाचल के खिलाफ दूसरी पारी में दो विकेट पर 178 रन बना लिये। पहली पारी में 227 रन पर आउट होने वाली तमिलनाडु की टीम हिमाचल से अब भी 58 रन पीछे है और उसके आठ विकेट बचे हुए हैं।

दूसरी पारी में तमिलनाडु की शुरूआत खराब रही दिनेश कार्तिक एक रन बनाकर पंकज जायसवाल (20 रन पर एक विकेट) की गेंद पर आउट हुए। मुकुंद ने इसके बाद 181 गेंद की नाबाद पारी में 16 चौके लगाये। उन्होंने बाबा अपराजित (24) के साथ दूसरे विकेट के लिये 89 और कप्तान बाबा इंद्रजीत (नाबाद 36) के साथ तीसरे विकेट के लिये 88 रन की अटूट साझेदारी की।

इससे पहले हिमाचल ने पांच विकेट पर 340 रन से आगे खेलना शुरू किया और रविवार को 99 रन पर नाबाद रहे अंकित कलसी ने 144 रन बनाये और अंत तक आउट नहीं हुए। उन्होंने ऋषि धवन (75) के साथ 123 रन की साझेदारी की।

अंकित ने 230 गेंद की नाबाद पारी में 21 चौके लगाये जबकि ऋषि ने 85 गेंद की पारी में 75 रन बनाये। तमिलनाडु की ओर से टी नटराजन ने 122 रन देकर पांच विकेट लिये। एम मोहम्मद और साई किशोर को दो-दो सफलता मिली। तमिलनाडु की टीम पहली पारी में 227 रन ही बना सकी थी।

राजस्‍थान बनाम हरियाणा

सलामी बल्लेबाज हिमांशु राणा (83) और चैतन्य बिश्नोई (नाबाद 87) की अर्धशतकीय पारियों और दोनों के बीच 121 रन की साझेदारी से हरियाणा ने रणजी ट्रॉफी एलीट ग्रुप सी के मैच में सोमवार को तीसरे दिन राजस्थान के खिलाफ तीन विकेट पर 244 रन बना लिये।

पहली पारी में 118 रन पर सिमटने वाली हरियाणा को पारी की हार से बचने के लिए अब भी 128 रन की जरूरत है और उसके सात विकेट शेष है। स्टंप्स के समय बिश्नोई के साथ प्रमोद चंदिला(42) क्रीज पर मौजूद है। दोनों के बीच अब तक 87 रन की अटूट साझेदारी हो गयी है।

इससे पहले राजस्थान ने दिन की शुरूआत पांच विकेट पर 443 रन से की। कल के नाबाद बल्लेबाज रोबिन बिष्ट ने 323 गेंद में 17 चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 150 रन की पारी खेली।

बिष्ट के 150 रन पर पहुंचते ही राजस्थान ने छह विकेट पर 490 रन बनाकर पारी घोषित कर दी। जिससे उसने पहली पारी में 372 रन की बढ़त कायम की। युजवेंद्र चहल हरियाणा के सबसे सफल गेंदबाज रहे जिन्होंने 107 रन देकर तीन विकेट झटके। हरियाणा ने आठ गेंदबाजों को आजमाया।