Ranji Trophy 2018-19, Group B, Round 9, Delhi vs Tamil Nadu
dhruv Shorey © IANS (file image)

क्वार्टरफाइनल की दौड़ की से बाहर हो चुकी दिल्ली और तमिलनाडु की टीमें सोमवार से होने वाले रणजी ट्रॉफी ग्रुप बी मैच में एक-दूसरे से भिड़ेंगी।

दोनों टीमों की निगाहें इस मैच में जीत दर्ज कर राष्ट्रीय टी20 चैंपियनशिप से पहले प्रेरणा हासिल करने पर लगी होंगी।

पढ़ें: वार्नर और स्मिथ रहे फेल, शाहिद आफरीदी ने कोमिला विक्‍टोरियंस को दिलाई जीत

एम ए चिदम्बरम स्टेडियम में मिली जीत निश्चित रूप से रणजी ट्रॉफी सत्र के बाद टी20 चैंपियनशिप से पहले खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाएगी।

दिल्ली के 13 अंक हैं जबकि तमिलनाडु का एक अंक कम है। दोनों टीमों ने केवल एक एक मैच जीते हैं जबकि दिल्ली को तीन हार जबकि मेजबान टीम को दो हार का सामना करना पड़ा है।

बाबा इंद्रजीत की अगुवाई वाली तमिलनाडु ने टीम में कुछ युवा खिलाड़ियों को शामिल किया है। उसकी बल्लेबाजी इकाई एकजुट होकर नहीं चलसकी है जिससे टीम इस सत्र में यह हश्र रहा।

इंद्रजीत ने कहा, ‘केरल के खिलाफ मैच तक ठीक था। हम बंगाल से हार गये,जो करीबी था। पंजाब और हिमाचल प्रदेश के खिलाफ पिछले दो मैच थोड़े निराशाजनक रहे क्योंकि हम चुनौती नहीं दे पाए।’

पढ़ें: डेनली के अर्धशतक से सिडनी सिक्‍सर्स को मिली चौथी जीत

उन्होंने युवाओं को टीम में शामिल करने के बारे में कहा, ‘युवाओं को टीम में शामिल करने का यह सही समय है, पहले यह मुश्किल था क्योंकि हमारे पास क्वालीफाई करने का मौका था। यह मैच हम सिर्फ प्रतिष्ठा के लिये खेल रहे हैं इसलिए हमने उन्हें टीम में शामिल किया है।’

दिल्ली के बल्लेबाज ध्रुव शौरी ने कहा, ‘भले ही बल्लेबाजी में एक या दो दिन खराब रहे हों, या फिर गेंदबाजी में एक या दो दिन खराब रहे हों। लेकिन चुनौती देने का जज्बा मौजूद है, लेकिन हम थोड़े कम अनुभवी हैं। टीम बदलाव के दौर से गुजर रही है। आप कुछ गलतियां करते हो और ये गलतियां भारी पड़ीं।’

गेंदबाजी विभाग में नवदीप सैनी और कुलवंत खेजरोलिया अहम होंगे जबकि चेपक की पिच स्पिनरों के लिए अहम साबित हो सकती है जिससे धीमे गेंदबाजों की भूमिका भी महत्वपूर्ण होगी।

(इनपुट-भाषा)