Ranji Trophy 2018-19: Mumbai, Karnatak eyeing first win in the tournament
Siddhesh Lad @ Siddhesh Lad’s Facebook

मुंबई और कर्नाटक की टीमें एलीट ग्रुप ए मैच में मंगलवार से यहां जब एक दूसरे के खिलाफ उतरेंगी तो दोनों की नजरें मौजूदा रणजी सीजन में पहली जीत दर्ज करने पर टिकी होंगी। मुंबई ने नयी दिल्ली के रेलवे के खिलाफ अपना पहला मैच ड्रा खेला लेकिन पहली पारी में बढ़त के आधार पर टीम तीन अंक हासिल करने में सफल रही।

कर्नाटक की टीम ने भी नागपुर में विदर्भ के खिलाफ ड्राॅ खेलकर पहली पारी में बढ़त के आधार पर तीन अंक जुटाए। राष्ट्रीय टीम से जुड़े रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे और पृथ्वी शॉ की गैरमौजूदगी के बावजूद धवल कुलकर्णी की अगुआई वाली मुंबई की टीम का बल्लेबाजी क्रम काफी मजबूत है।

मुंबई के लिए काफी कुछ हालांकि सिद्धेश लाड के प्रदर्शन पर निर्भर करेगा जो पिछले कुछ समय में राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने के लिए मजबूत दावेदारी पेश कर रहे हैं और एक बार फिर अच्छा प्रदर्शन करके अपनी दावेदारी मजबूत करना चाहेंगे

टीम के नियमित सदस्य अखिल हेरवादकर, सूर्य कुमार यादव, जय बिस्टा और अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज तथा पूर्व कप्तान आदित्य तारे से भी टीम को काफी उम्मीदें हैं।
तारे ने रेलवे के खिलाफ 100 रन की पारी खेलकर फाॅर्म में वापसी की और एक बार फिर अच्छी पारी खेलना चाहेंगे। यहां तक कि शिवम दुबे भी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और मुंबई को उनसे एक और बड़ी पारी की उम्मीद होगी।

गेंदबाजी में कुलकर्णी को तेज गेंदबाज तुषार देशपांडे के अलावा स्पिनरों कर्ष कोठारी और शम्स मुलानी का साथ मिल रहा है। अगर ये दोनों स्पिनर खेलते हैं तो तेज गेंदबाज आकाश पार्कर को बाहर बैठना पड़ सकता है। रोहित शर्मा, रहाणे और पृथ्वी जैसे मुख्य बल्लेबाजों की गैरमौजूदगी के बारे में पूछने पर मुंबई के कोच विनायक सामंत ने कहा, ‘‘यह अन्य खिलाड़ियों के पास प्रदर्शन करने का मौका है और टीम इस मुकाबले के लिए तैयार है।’’

विनय कुमार की अगुआई वाली कर्नाटक के पास भी उम्दा खिलाड़ी मौजूद हैं और टीम घरेलू मैदान पर मुंबई को हराना चाहेगी। इन दोनों टीमों के बीच अतीत में भी करीबी मुकाबले देखने को मिले हैं और एक बार फिर दोनों के बीच रोमांचक मैच होने की उम्मीद है। फिलहाल अंक तालिका में मुंबई और कर्नाटक क्रमश: आठवें और नौवें स्थान पर चल रहे हैं।