Ranji Trophy 2018-19: Punjab vs Bengal, Delhi vs Tamil Nadu, Himachal Pradesh vs Kerala

हिमाचल प्रदेश ने पहली पारी में बढ़त हासिल करने के बाद दूसरी पारी में बुधवार को आठ विकेट पर 285 रन बनाकर केरल के खिलाफ रणजी ट्रॉफी 2018-19 ग्रुप बी मैच में जीत की अपनी उम्मीदों को कायम रखा।

केरल की टीम पी राहुल (127) के शतक और संजू सैमसन (50) के अर्धशतक के बावजूद अपनी पहली पारी में 286 रन ही बना पाई। इस तरह से हिमाचल को पहली पारी में 11 रन की बढ़त मिली। हिमाचल के लिये अर्पित गुलेरिया ने पांच और ऋषि धवन ने तीन विकेट लिये।

धवन ने इसके बाद हिमाचल की दूसरी पारी में 85 रन की उपयोगी पारी खेली। उनके अलावा अंकित कालसी (64) ने भी अर्धशतक जड़ा। इससे हिमाचल की कुल बढ़त अब 296 रन हो गयी है।

पढ़ें: हरमनप्रीत का बल्‍ला खामोश फिर भी सिडनी थंडर को मिली जीत

हिमाचल और केरल को क्वार्टर फाइनल की संभावना बरकरार रखने के लिये इस मैच में हर हाल में जीत दर्ज करनी होगी। ड्रॉ होने पर दोनों टीमें नॉकआउट की दौड़ से बाहर हो जाएंगी।

पंजाब बनाम बंगाल

सलामी बल्लेबाज अभिमन्यु ईश्वरन के सीजन के तीसरे शतक की मदद से बंगाल ने पंजाब के खिलाफ रणजी ट्रॉफी एलीट ग्रुप बी मैच में बुधवार को अच्छी वापसी की।

ईश्वरन 100 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए हैं जो उनके प्रथम श्रेणी करियर का 10 वां शतक है। उन्होंने मनोज तिवारी (नाबाद 90) के साथ तीसरे विकेट के लिये अभी 180 रन की अटूट साझेदारी की है जिससे बंगाल ने तीसरे दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी दूसरी पारी में दो विकेट पर 218 रन बनाये हैं।

पढ़ें: शार्दुल ठाकुर बोले- मैं अभी स्पीड को लेकर चिंतित नहीं हूं

इससे पहले पंजाब ने बंगाल के 187 रन के जवाब में अपनी पहली पारी में 447 रन बनाकर 260 रन की बढ़त हासिल की थी। इस तरह से बंगाल अब भी पंजाब से 42 रन पीछे है। इस मैच के ड्रॉ होने पर दोनों टीमें नॉकआउट की दौड़ से बाहर हो जाएंगी।

दिल्‍ली बनाम तमिलनाडु

जोंटी सिंद्धू के नाबाद शतक की मदद से दिल्ली ने तमिलनाडु के खिलाफ रणजी ट्रॉफी एलीट ग्रुप बी मैच के तीसरे दिन बुधवार को छह विकेट पर 268 रन बनाये। तमिलनाडु ने अभिनव मुकुंद के 134 रन की मदद से पहली पारी में 432 रन बनाये थे। तमिलनाडु अभी दिल्ली से 164 रन आगे है।

सिद्धू 104 रन बनाकर खेल रहे हैं जिससे दिल्ली पहली पारी में चार विकेट पर 49 रन के स्कोर से उबरने में सफल रहा। सिद्धू का ललित यादव (नाबाद 65) ने अच्छा साथ दिया। ये दोनों सातवें विकेट के लिये अब तक 126 रन जोड़ चुके हैं।

बायें हाथ के बल्लेबाज सिद्धू ने सतर्कता और आक्रामकता का अच्छा नमूना पेश किया। उन्होंने अब तक अपनी पारी में 235 गेंदों का सामना करके 11 चौके और तीन छक्के लगाये हैं।

दिल्ली ने सुबह दो विकेट पर 35 रन से आगे खेलना शुरू किया लेकिन दो रन के अंदर ध्रुव शोरे और कप्तान नितीश राणा के विकेट गंवा दिये। हिम्मत सिंह (39) और सिद्धू ने पांचवें विकेट के लिये 78 रन की साझेदारी करके टीम को इन झटकों से उबारने की कोशिश की।

साई किशोर ने हिम्मत को आउट करके अपना दूसरा विकेट लिया। अनुज रावत (छह) ज्यादा देर तक नहीं टिक पाये लेकिन इसके बाद सिद्धू और ललित यादव ने टीम को दिन में आगे कोई झटका नहीं लगने दिया।

(एजेंसी इनपुट के साथ)