ranjiरणजी ट्रॉफी मैच 2016-17 में आज राउंड पांच के दिन 9 मैच ही खेले गए। चौथे दिन चार मैच ड्रॉ रहे तो पांच मैचों का नतीजा निकला। ड्रॉ हुए मैचों की बात करें तो दिल्ली बनाम झारखंड, राजस्थान बनाम ओडिशा, आंध्र बनाम सर्विसेस केरला बनाम हरियाणा के मैच ड्रॉ हुए। वहीं हिमाचल प्रदेश बनाम जम्मू-कश्मीर के मुकाबले में हिमाचल ने जम्मू को 5 विकेट से हरा दिया। वहीं असम और सौराष्ट्र के बीच खेले गए मैच में असम ने सौराष्ट्र को 9 विकेट से मात दी। गोवा बनाम छत्तीसगढ़ के मुकाबले में गोवा ने जीत दर्ज करते हुए छत्तीसगढ़ को 8 विकेट से करारी शिकस्त दी। मुंबई बनाम रेलवे के मैच में मुंबई रेलवे पर भारी पड़ी और मैच को 10 विकेट से अपने नाम किया। तमिलनाडु बनाम बड़ौदा मुकाबले में तमिलनाडु ने एकतरफा अंदाज में जीत दर्ज करते हुए बड़ौदा को एक पारी और 44 रनों से पटखनी दी।

इन सबके बीच जो सबसे खास रहा वो यह था कि ऋषभ ने रणजी ट्रॉफी में सबसे तेज शतक जड़ जाला। ऋषभ पंत ने रणजी ट्रॉफी में मात्र 48 गेंदों पर अपना सैकड़ा पूरा कर लिया। ऋषभ पंत ने यह उपलब्धि दिल्ली और झारखंड मैच के बीच हासिल की। ऋषभ ने ना सिर्फ रणजी का सबसे तेज शतक ठोकी बल्कि भारत में प्रथम श्रेणी में ये अब तक का सबसे तेज शतक है। झारखंड के खिलाफ दूसरी पारी में बल्लेबाजी करते हुए पंत ने अपनी पारी में 10 छक्के और 6 चौके ठोक डाले। इससे पहले पहली पारी में भी पंत ने शानदार बल्लेबाजी की थी और मात्र 82 गेंदों में अपना शतक पूरा किया था। लेकिन ऋषभ की बेहतरीन पारी टीम के काम नहीं आई और मुकाबला बराबरी पर समाप्त हुआ।  ये भी पढ़ें: इन चार कारणों से हार सकती है टीम इंडिया

केरला बनाम हरियाणा के मुकाबले में हरियाणा ने अपनी पहली पारी में 303 और दूसरी पारी में 315/3 का स्कोर बनाया वहीं हरियाणा की टीम ने अपनी पहली पारी में 404/9 पर घोषित कर दी और मैच बराबरी पर समाप्त हुआ। हिमाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर के बीच खेले गए मैच में जम्मू ने अपनी पहली पारी में 162 तो दूसरी पारी में 417 रन बनाए लेकिन हिमाचल ने पहली पारी में 370 रन बनाकर अच्छी खासी बढ़त बना ली थी और दूसरी पारी में हिमाचल ने आसानी से लक्ष्य का पीछा कर लिया और जीत दर्ज करने में कामयाबी पाई।

आंध्र बनाम सर्विसेस के मुकाबले में आंध्र ने अपनी पहली पारी में 341 रन बनाए जबकि दूसरी पारी में आंध्र को बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला। वहीं सर्विसेस की बात करें तो सर्विसेस ने पहली पारी में 446 और दूसरी पारी में बिना कोई विकेट खोए 27 रन बना लिए थे कि तभी अंपायर ने मुकाबले को ड्रॉ घोषित कर दिया। राज्सथान बनाम ओडिशा के मैच की बात करें तो ये मुकाबला भी ड्रॉ ही रहा। राजस्थान ने अपनी पहली पारी में 323 रन बनाए जबकि दूसरी पारी में राजस्थान को बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला। ओडिशा ने पहली पारी में 172 और दूसरी पारी में 6 विकेट के नुकसान पर 508 रन बनाए और मैच ड्रॉ हो गया।  ये भी पढ़ें: क्या इस पारी से टीम में आने के लिए तैयार हैं ऋषभ पंत!

असम बनाम सौराष्ट्र मैच की बात करें तो सौराष्ट्र की टीम दोनों पारियों में फ्लॉप रही और दोनों पारियों में मिलाकर भी 200 नहीं बना पाई। सौराष्ट्र ने पहली पारी में 153 और दूसरी पारी में 81 रन बनाए जिसे असम ने आसानी से जीत लिया। गोवा बनाम छत्तीसगढ़े के मुकाबले में छत्तीसगढ़ ने पहली पारी में 198 और दूसरी पारी में 162 रन बनाए तो गोवा की टीम ने पहली पारी में 270 और दूसरी पारी में दो विकेट खोकर जरूरी लक्ष्य का पीछा कर मैच जीत लिया। मंबई बनाम रेलवे के मुकाबले में रेलवे की टीम ने पहली पारी में 160 और दूसरी पारी में 208 रन बनाए तो मुंबई की टीम ने 345 और दूसरी पारी में बिना कोई विकेट खोकर 24 रन बनाने के साथ ही मैच जीत लिया।

वहीं दिन के आखिरी मैच में तमिलनाडु और बड़ौदा के बीच खेले गए मुकाबले में तमिलनाडु ने भारी जीत दर्ज की। बड़ौदा की पहली पारी 93 पर सिमट गई तो दूसरी पारी में बड़ौदा ने 200 रन बनाए, तमिलनाडू ने पहली पारी में 337 रन बनाए थे और बड़ौदा को पारी और 44 रनों से हरा दिया।