Rashid Khan and Nabi slams Afghanistan Cricket Board for sacking Asghar Afghan as captain
Rashid Khan and Asghar Afghan @IANS

शुक्रवार को अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड की तरफ से एक चौकाने वाला फैसला आया। इंग्लैंड में खेले जाने वाले आईसीसी विश्व कप से ठीक पहले कप्तान असगर अफगान को कप्तानी पद से हटा दिया गया। क्रिकेट बोर्ड ने तीनों फॉर्मेट में अलग अलग कप्तान नियुक्त कर दिए लेकिन उसके इस कदम से राशिद खान और मोहम्मद नबी जैसे सीनियर खिलाड़ी खुश नहीं हैं।

यह कदम विश्व कप शुरू होने से ठीक पहले उठाया गया। अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) ने असगर को तीनों फॉर्मेट की कप्तानी से हटा दिया और उनकी जगह रहमत खान, गुलबादिन नैब और राशिद को क्रमश: टेस्ट, वनडे और टी20 टीमों का कप्तान नियुक्त किया।

पढ़ें:- अफगानिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने असगर अफगान को कप्तान पद से हटाया

31 साल के असगर को 2015 में नबी की जगह कप्तान बनाया गया था। उनके कप्तान रहते हुए अफगानिस्तान अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद का पूर्णकालिक सदस्य बना और उसने पिछले महीने देहरादून में आयरलैंड के खिलाफ अपनी पहली टेस्ट जीत दर्ज की।  उनकी अगुवाई में टीम ने आईसीसी विश्व कप क्वालीफायर 2018 में जीत दर्ज की। उनकी टीम ने फाइनल में वेस्टइंडीज को हराया। असगर की कप्तानी में अफगानिस्तान ने 59 मैचों में से 37 में जीत दर्ज की।

एसीबी का फैसला राशिद और नबी को नागवार गुजरा। ये दोनों अभी आईपीएल में खेल रहे हैं। राशिद ने ट्वीट किया, ‘‘चयनसमिति का पूरा सम्मान करते हुए, मैं फैसले से पूरी तरह असहमत हूं क्योंकि गैरजिम्मेदाराना और पक्षपातपूर्ण है। क्रिकेट विश्व कप हमारे सामने है, कप्तान असगर अफगान को हमारी टीम का कप्तान बनाए रखना चाहिए था। टीम सफलता में उनकी कप्तानी का अहम योगदान रहा है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘विश्व कप जैसे बड़े टूर्नामेंट से कुछ महीने पहले कप्तान बदलने से अस्थिरता पैदा होगी और टीम का मनोबल भी प्रभावित होगा।’’

नबी ने भी सोशल मीडिया नेटवर्किंग साइट पर अपनी खीझ निकाली। उन्होंने लिखा, ‘‘टीम का सीनियर खिलाड़ी होने और अफगानिस्तान क्रिकेट का विकास का गवाह होने के नाते मुझे लगता है कि विश्व कप से पहले कप्तान बदलना सही नहीं है। असगर की अगुवाई में टीम में बहुत अच्छा तालमेल था और मेरी निजी राय है कि वह हमारी अगुवाई करने के लिए सबसे सही व्यक्ति है। ’’