Ravi Shastri on Team India’s criticism: It is easy to sit down and talk
Ravi Shastri (IANS)

टीम इंडिया मुख्य कोच रवि शास्त्री ने भारतीय टीम की आलोचना को खारिज करते हुए आलोचकों पर निशाना साधते हुए कहा कि लाखों मील दूर बैठकर बातें करना आसान होता है। भारत को पर्थ में दूसरे टेस्ट में 146 रन से हार का सामना करना पड़ा जिसके बाद महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर जैसे लोगों ने टीम मैनेजमेंट की चयन नीति पर सवाल उठाए और कप्तान विराट कोहली तथा मुख्य कोच से अधिक जवाबदेही की मांग की।

बॉक्सिंग डे टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन के खेलने पर संशय, जडेजा भी चोटिल

शास्त्री ने किसी का नाम नहीं लिया लेकिन आलोचनाओं को उन्होंने सिरे से खारिज करते हुए जता दिया कि उन्हें ये टिप्पणियां पसंद नहीं आईं। शास्त्री ने टीम को निशाना बनाने वाले पूर्व क्रिकेटरों पर पलटवार करते हुए कहा, ‘‘जब आप लाखों मील दूर बैठे होते हों तो बातें बनाना आसान होता है। वो काफी दूर बैठकर कमेंट कर रहे हैं। हमें वो करना है जो टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ है, ये सीधी सी बात है।’’

पर्थ में जडेजा का ना खिलाने का असली कारण

चयन मामले में शास्त्री ने कहा कि एकमात्र दुविधा रविंद्र जडेजा को खिलाने को लेकर थी और ऐसा कुछ नहीं था जैसा कुछ विशेषज्ञों ने बना दिया। भारत के मुख्य कोच ने कहा, ‘‘जडेजा के अलावा मुझे नहीं लगता कि चयन को लेकर और कोई दुविधा थी और अगर ऐसा कुछ था तो ये मेरी समस्या नहीं है।’’

Video: पर्थ टेस्ट से दौरान भिड़े इशांत शर्मा-रविंद्र जडेजा

जडेजा-इशांत के झगड़े पर कोच का जवाब

दूसरे टेस्ट के दौरान मैदान पर जडेजा और इशांत शर्मा की कैमरे में कैद हुई बहस पर कोच ने कहा, ‘‘मैं कभी हैरान नहीं होता (इस तरह की कवरेज से)। कई तरीकों से ये टीम को एकजुट होने के लिए प्रेरित कर सकती है और उम्मीद करते हैं कि ऐसा ही हो।’’

बॉक्सिंग डे टेस्ट में मयंक को मौका मिल सकता है

कोच ने संकेत दिए कि टीम मैनेजमेंट तीसरे टेस्ट के लिए सलामी बल्लेबाजी के विकल्प के रूप में मयंक अग्रवाल के नाम पर गंभीरता से विचार कर रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘मयंक अच्छा युवा खिलाड़ी है। उसने भारत ए के लिए ढेरों रन बनाए हैं। अगर आप उसका घरेलू रिकार्ड देखो तो वो किसी भी अन्य खिलाड़ी जितना अच्छा है। इसलिए हमें इस पर फैसला करना होगा।’’