मोहाली टेस्ट में अश्विन ने लिए थे चार अहम विकेट। © Getty Images
मोहाली टेस्ट में अश्विन ने लिए थे चार अहम विकेट। © Getty Images

भारत के मोहाली टेस्ट जीतने में टीम के सभी खिलाड़ियों का योगदान रहा लेकिन अगर एक खिलाड़ी का नाम लें जो इस जीत की नींव बना वह है रविचंद्रन अश्विन। अश्विन केवल कल के मैच में ही नहीं बल्कि हर मैच में भारत की जीत के नायक बने हैं। बात गेंदबाजी से विपक्षी टीम के विकेट चटकाने की हो या बल्ले से रन बनाने की अश्विन हर काम में माहिर हैं। वहीं अश्विन की एक और बात है जो उन्हें और भी ज्यादा खास बनाती है, वह है उनका मजाकिया स्वभाव। मैदान पर गंभीर दिखने वाले टीम इंडिया के यह संकटमोचन असल में बड़े ही छुपे रूस्तम हैं। अश्विन मैदान से बाहर साथी खिलाड़ियों के साथ काफी मजाक करते हैं और इस बार उनका शिकार विपक्षी नहीं बल्कि उन्ही की टीम के पार्थिव पटेल बनें। ये भी पढ़ें: भारत बनाम इंग्लैंड मोहाली टेस्ट में भारत की जीत के कारण

मोहाली टेस्ट के बात मीडिया से रूबरू होते हुए पार्थिव और अश्विन दोनों ने ही एक दूसरे की तारीफ कर रहे थे। अश्विन ने कहा, “मैच के दूसरे दिन हम थोड़ी परेशानी में थे लेकिन सबने एक दूसरे का साथ दिया। निचले क्रम के बल्लेबाजों ने हर बार 125 रन बोर्ड पर लगाए। हमने बेहतरीन प्रदर्शन किया।” वहीं एलियेस्टर कुक और मोइन अली के अहम विकेट के बारें में बात करते हुए विश्व के नंबर एक टेस्ट गेंदबाज ने कहा, “मैंने कुक और मोइन दोनों के विकेट का मजा लिया। मुझे पता था कि अली बाहर आकर खेलेगा इसलिए मैंने गेंद को धीमा रखा।” वहीं पार्थिव पर चुटकी लेते हुए अश्विन ने कहा, “पार्थिव प्रथम श्रेणी क्रिकेट में भी ऐसे ही खेलते हैं। जब हम गुड लेंथ पर भी गेंद करते हैं तो वह पार्थिव के लिए शॉर्ट गेंद ही होती है।” पार्थिव ने मोहाली मैच की दोनों पारियों में बेहतरीन बल्लेबाजी की थी। पहली पारी में 42 पर आउट होकर वह अर्धशतक से चूक गए थे लेकिन दूसरी पारी में उन्होंने शानदार 67 रन जड़े और भारत को जीत दिलाई। पार्थिव की हाइट भले ही कम हो लेकिन उनका प्रदर्शन लाजवाब रहा है। ये भी पढ़ें: रणजी ट्रॉफी राउंड आठ के पहले दिन चमके सुरेश रैना

वहीं अश्विन ने टीम इंडिया के रॉकस्टार रवींद्र जडेजा की भी काफी तारीफ की, उन्होंने कहा, “हमें विकेट दबाव की वजह से मिले। जड्डू का इसमें अहम योगदान रहा। विकेट ज्यादा कुछ खास नहीं थी, उसने लगातार उन जगहों पर गेंद कराई जहां खेलना मुश्किल था।” मोहाली टेस्ट के हीरो असल में भारतीय टीम के तीन ऑल राउंडर्स अश्विन, जडेजा और जयंत यादव रहे।