अश्विन-जडेजा ने बैंगलौर टेस्ट की जीत में निभाया था अहम योगदान  © Getty Images
अश्विन-जडेजा ने बैंगलौर टेस्ट की जीत में निभाया था अहम योगदान © Getty Images

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया बैंगलौर टेस्ट में जीत हासिल कर टीम इंडिया ने पुणे हार का बदला ले लिया है। इसके साथ ही भारत के दो प्रमुख गेंदबाजों ने ऐसा कीर्तमान हासिल किया है जो आज के पहले कोई भारतीय खिलाड़ी नहीं बना पाया था। दूसरे टेस्ट के बाद ताजा आईसीसी रैंकिग में रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा पहली भारतीय स्पिन जोड़ी है जो टेस्ट रैंकिग में शीर्ष स्थान पर आए हैं। अब तक अश्विन टेस्ट की शीर्ष गेंदबाज बने हुए थे लेकिन कल के मैच के बाद जडेजा ने भी उनके बराबर अंक हासिल किए और दोनो संयुक्त रूप से टेस्ट के शीर्ष गेंदबाज बन गए हैं।

बैंगलौर मैच में अश्विन ने पहली पारी में दो और दूसरी पारी में छह विकेट लिए थे। वहीं सर जडेजा भी उनसे पीछे नहीं है, जडेजा ने पहली पारी में छह और दूसरी पारी में एक विकेट झटका था। भारतीय गेंदबाजी के ये दो मुख्य स्तंभ हैं। अश्विन और जडेजा दोनों 892 अंकों के साथ इस समय विश्व के शीर्ष टेस्ट गेंदबाज हैं। साथ ही ऑस्ट्रेलिया के जाश हेजलवुड 863 अंक के साथ तीसरे स्थान पर बने हुए हैं। बैंगलौर टेस्ट में अश्विन और जडेजा के छह विकेट हॉल ने टीम इंडिया की जीत में अहम योगदान दिया है। [ये भी पढ़ें: भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया, दूसरा टेस्ट(हाईलाइट्स): बैंगलौर टेस्ट में जीत हासिल कर सीरीज में बराबरी पर आया भारत]

पहली पारी में जब ऑस्ट्रेलिया टीम भारत पर बढ़त बना रही थी तब जडेजा ने छह विकेट लेकर उनकी पारी को 276 पर रोक दिया। इसके बाद दूसरी पारी में 188 के लक्ष्य का पीछा करते हुए जब ऑस्ट्रेलिया टीम जीत के करीब पहुंच रही थी तब अश्विन ने छह अहम विकेट चटकाकर मेहमान टीम की जीत का सपना तोड़ दिया। आगे आने वाले टेस्ट मैचों में भी यह जोड़ी टीम इंडिया की सबसे बड़ी ताकत और विपक्षी बल्लेबाजों के लिए सबसे बड़ा खतरा बनेगी।