Ravichandran Ashwin: Biggest positive for me is there is scope for improvement
रविचंद्रन अश्विन (AFP)

गेंदबाजों और बल्लेबाजों को साझे प्रयास के दम पर किंग्स इलेवन पंजाब ने इंडियन प्रीमियर लीग के 22वें मैच में सनराइजर्स हैदराबाद टीम को 6 विकेट से हराकर शानदार जीत हासिल की। मैच के बाद कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने खिलाड़ियों के प्रदर्शन की सराहना की। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि टीम में सुधार की गुंजाइश है, जिसे वो सकारात्मक चीज मानते हैं।

ये भी पढ़ें: राहुल-मयंक के शानदार अर्धशतक, फिर फेल हुआ हैदराबाद का मध्यक्रम

विजेता कप्तान अश्विन ने कहा, “मैच हमारे कंफर्ट के हिसाब से बेहद करीबी रहा। हमने पहले भी कई करीबी मुकाबले खेले हैं, मेरे लिए सबसे सकारात्मक चीज ये है कि अब भी सुधार की गुंजाइश है। ये कहना बहुत कठोर होगा कि हमने आखिरी 10 ओवरों में 100 रन दिए। योजना को अच्छे से लागू किया गया। हमारे पास काम करने के लिए पर्याप्त प्रतिभा है।”

हैदराबाद के खिलाफ मैच के लिए मुजीब उर रहमान की प्लेइंग इलेवन में वापसी कराई गई थी। अश्विन जानते थे कि ये अफगानी स्पिनर मोहाली की पिच पर प्रभावी साबित होगा और ऐसा ही हुआ। मुजीब की तारीफ करते हुए कप्तान ने कहा, “मुजीब मोहाली की पिच को अच्छी तरह से जानता है और बतौर स्पिनर आपको पता होना चाहिए कि किस लेंथ और गति से गेंदबाजी करनी है।”

ये भी पढ़ें: ‘मैंने सैम कर्रन को पहले ही बता दिया था यहां छक्‍का मारना नहीं होगा आसान’

मुजीब ने अपने 4 ओवर के स्पेल में 34 रन देकर केवल एक ही विकेट लिया लेकिन अश्विन का मानना है कि आंकड़े अक्सर प्रतिभा को पूरी तरह नहीं दर्शाते हैं। उन्होंने कहा, “कई बार आंकड़ें न्याय नहीं करते लेकिन मुझे लगता है कि मुजीब ने आज अच्छी गेंदबाजी की। आप नई गेंद के साथ स्पिनर्स का इस्तेमाल करते हैं और मुजीब ने पूरी जिंदगी अफगानिस्तान के लिए यही किया है। और ये बेयरस्टो और मुजीब के बीच एक अच्छा मुकाबला देखने को मिला।”