Ravichandran Ashwin: Indian team will miss fifth bowler in Australia
Ravichandran Ashwin © AFP

भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन का कहना है कि ऑस्ट्रेलिया में बल्लेबाजी की तरह ही गेंदबाजी में भी अच्छी साझेदारी जरूरी है क्योंकि यहां दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड की तुलना में विरोधी बल्लेबाजों को आउट करना मुश्किल होता है। ऑस्ट्रेलिया दौरे पर गई भारतीय टीम चार मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच एडिलेड में छह दिसंबर से खेलेगी।

अश्विन ने कहा कि भारतीय गेंदबाजों को क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया इलेवन के खिलाफ अभ्यास करने का अच्छा मौका मिला। ऑस्ट्रेलिया ए ने तीसरे दिन के खेल के बाद छह विकेट पर 356 रन बनाए। अश्विन ने 24 ओवर में 63 रन देकर एक विकेट लिया जबकि मोहम्मद शमी ने 18 ओवर में 67 रन देकर तीन सफलताएं हासिल की।

अश्विन ने दिन का खेल खत्म होने के बाद कहा, ‘‘यहां साझेदारी में गेंदबाजी करना जरूरी है। साझेदारी में गेंदबाजी के दम पर आप उन्हें परेशान कर सकते हैं। कई बार ऐसा ही होगा कि आप पूरी टीम को आउट नहीं कर सके। लेकिन आपको उन पर दबाव बनाना होगा।’’

अश्विन को लगता है कि यहां कि पिच सपाट होगी और भारतीय टीम को सीरीज में चतुराई भरा क्रिकेट खेलना होगा। उन्होंने कहा कि भारत को पांचवें गेंदबाज हार्दिक पांड्या की कमी खलेगी, ऐसे में साझेदारी में गेंदबाजी करना काफी अहम होगा।

इस भारतीय गेंदबाज ने कहा, ‘‘सीरीज में साझेदारी में गेंदबाजी करना काफी अहम होगा क्योंकि हार्दिेक पांड्या चोटिल है  और टीम को पांचवें गेंदबाज की कमी खल सकती है। जब आप गेंदबाजी कर रहे होंगे तब भी आपको साझेदारी में अच्छा करना काफी जरूरी होगा और ये बहुत आवश्यक है कि गेंदबाजी के समय आपको अपनी भूमिका के बारे में पता हो।’’

भारतीय गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में अच्छी गेंदबाजी की लेकिन अश्विन को लगता है कि यहां गेंदबाजों को लंबा स्पैल डालना होगा। अश्विन ने कहा, ‘‘स्पिनर के तौर पर ये जरूरी है कि पहली पारी में योजना के मुताबिक गेंदबाजी की जाए। अगर दूसरी पारी में कुछ मदद मिली तो गेंद को सही जगह टप्पा खिलाने की कोशिश करूंगा। ये दौरा भी पिछले ऑस्ट्रेलियाई दौरे की तरह ही है। मेरे लिए वो अच्छी सीरीज रही थी, जहां से मेरे करियर में बदलाव आया था।ऑस्ट्रेलिया को दबाव में लाना जरूरी होगा। यहां हर घंटे खेल का रूख बदल सकता है। हमारे पास कुछ अच्छे बल्लेबाज है जो मैच का रूख बदल सकते हैं।’’