Ravichandran Ashwin: Not looking at IPL as platform for returning to India team
रविचंद्रन अश्विन © Getty Images

भारतीय वनडे-टी20 टीम से बाहर चल रहे रविचंद्रन अश्विन ने कहा है कि सीमित फॉर्मेट में वापसी को लेकर उनकी रातों की नींद नहीं उड़ी है। अश्विन ने कहा कि फिलहाल उनका पूरा ध्यान इंडियन प्रीमियर लीग में किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी की ‘बड़ी जिम्मेदारी’ पर है। युवराज सिंह  और एरन फिंच जैसे खिलाड़ियों के होते हुए भी पंजाब टीम ने अश्विन को इस सीजन के लिए कप्तान नियुक्त किया है।

अश्विन ने पीटीआई से कहा, ‘‘मैं इस साल के आईपीएल को भारतीय टीम में वापसी के तौर पर नहीं देख रहा हू। मैं आईपीएल में उसी मानसिकता के साथ उतरूंगा जैसे हर साल उतरता हूं। इस सीजन में मेरे ऊपर बड़ी जिम्मेदारी (किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी की) है और मैं चुनौती के लिए तैयार हूं। मैं किसी और चीज पर ध्यान नहीं दे रहा हूं। अगर भारतीय टीम में वापसी होनी होगी तो ऐसे ही हो जाएगी।’’

IPL 2018: आर. अश्विन करेंगे किंग्‍स इलेवन पंजाब की कप्‍तानी
IPL 2018: आर. अश्विन करेंगे किंग्‍स इलेवन पंजाब की कप्‍तानी

अश्विन के साथ रविंद्र जडेजा का  भी अगले साल होने वाले विश्व कप में खेलना मुश्किल नजर आ रहा है क्योंकि रिस्ट स्पिनर युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव भारत के लिए फिलहाल अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि आईपीएल में अश्विन का प्रदर्शन उनके लिए सिर्फ एक कप्तान ही नहीं बल्कि सीनियर गेंदबाज के रूप में भी अहम होगा। वह अप्रैल-मई में होने वाले इस टूर्नामेंट में लेग स्पिन आजमाने को भी तैयार हैं। टीम कॉम्बिनेशन पर फैसला अभी जल्दबाजी होगा लेकिन अश्विन के सामने जो चुनौतियां हैं उनमें से एक टीम में शामिल सीनियर खिलाड़ियों के साथ सामंजस्य बैठाना है। पंजाब टीम में युवराज सिंह, फिंच, डेविड मिलर और क्रिस गेल टीम में शामिल कुछ हाई प्रोफाइल खिलाड़ी हैं।

एक समय आईपीएल नीलामी की शान रहे युवराज और गेल की मांग में काफी कमी आई है और पंजाब की टीम ने इन दोनों को पिछले महीने हुई नीलामी में उनके बेस प्राइस पर खरीदा है। युवराज सिंह का प्लेइंग इलेवन में खेलना लगभग तय है लेकिन ये देखना होगा कि टीम मैनेजमेंट गेल का कैसे इस्तेमाल कैसे करता है क्योंकि उनके पास फिंच और मयंक अग्रवाल की फार्म में चल रही सलामी जोड़ी है। पंजाब की टीम के लिए लोकेश राहुल भी पारी का आगाज कर सकते हैं।