रविचंद्रन अश्विन © AFP
रविचंद्रन अश्विन © AFP

रविचंद्रन अश्विन के लिए साल 2016 बेहद ही खास और शानदार रहा है। अश्विन ने इस साल 12 टेस्ट मैचों में 72 विकेट झटके, साथ ही उन्होंने 8 बार पांच या उससे ज्यादा विकेट हासिल किए। वहीं बल्ले के साथ भी अश्विन शानदार रहे और उन्होंने 43 की औसत के साथ 612 रन बनाए। इस दौरान उन्होंने 2 शतक और 4 अर्धशतक जड़े। भारत की जीत में अश्विन ने अहम भूमिका निभाई और खेल के हर विभाग में अपनी उपयोगिता दर्ज कराई। अश्विन को उनके शानदार खेल का इनाम भी मिला और आईसीसी ने उन्हें प्लेयर ऑफ द ईयर और टेस्ट प्लेयर ऑफ द ईयर के खिताब से नवाजा।

अश्विन ने अपने प्रदर्शन पर कहा कि मैं हमेशा ही अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहता हूं और मैं शानदार खेल दिखाना चाहता हूं, फिर मैं चाहे किसी भी टीम के लिए खेलूं। अश्विन ने कहा, ‘मुझे लगता है मैं बेहद ही उपयोगी खिलाड़ी हूं। मैं चाहे रणजी में चेन्नई, आईपीएल या भारत के लिए खेलूं, हमेशा मैं अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करना चाहता हूं। मैं अपने प्रदर्शन पर लगातार सुधार करने की कोशिश करता हूं, और मेरा ध्यान हमेशा खेल पर ही होता है ना कि इस बात पर कि इस मैच से पहले मैंने कैसा प्रदर्शन किया था।’  ये भी पढ़ें: साल 2016 में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज

काफी मैचों में जीत दिलाने वाले अश्विन ने कहा कि एंडिगुआ टेस्ट में मेरा सबसे बेहतरीन प्रदर्शन था। मैंने मैच में सात विकेच लिए थे और साथ ही शतक लगाया था और भारत ने उस मुकाबले को जीत लिया था। अश्विन ने इंग्लैंड के खिलाफ हाल ही में संपन्न हुई टेस्ट सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन किया था और भारत को सीरीज में जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई थी।