Ravichandran Ashwin should have maintain the decorum, says BCCI official
रविचंद्रन अश्विन © AFP

पंजाब और राजस्थान के बीच खेले गए इंडियन टी20 लीग मैच में जोस बटलर को मांकड़िंग कर आउट करने के बाद रविचंद्रन अश्विन को काफी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। राजस्थान के कोच पैडी अपटन, मेंटोर शेन वार्नर समेत इयोन मोर्गन और डेल स्टेन जैसे बड़े खिलाड़ियों ने उनकी नीति की आलोचना नहीं की। अब इस मामले में बीसीसीआई का पक्ष भी सामने आया है।

ये भी पढ़ें: ‘पाक के खिलाफ पहले दो वनडे जीतकर ऑस्‍ट्रेलिया को नहीं होना चाहिए रिलैक्‍स’

आईएएनएस को दिए बयान में बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा, “मैच अधिकारी इस मामले को निपटाने के अपने कर्तव्य पूरे करने में असफल रहे। अगर स्थिति पर सही से नियम लगाए जाते तो बटलर को नॉट आउट दिया जाना चाहिए था। अश्विन को भी समझना था कि खेल भावना और नियम दोनों को ध्यान में रखा जाना चाहिए था।”

उन्होंने आगे कहा, “एक खिलाड़ी को दूसरे खिलाड़ी को अपनी क्रिकेट की काबिलियत के दम पर हराना चाहिए, ना कि इस तरह से संदेहपूर्ण कौशल से। अगर बल्लेबाज स्थिति का फायदा उठा रहा है तो सही तरीके से इससे निपटें, एक भद्र पुरुष की तरह। प्रतिद्वंदिता वगैरह सब ठीक है लेकिन खेल का शिष्टाचार बनाए रखना चाहिए था।”

ये भी पढ़ें: पहले भी मांकडिंग का हिस्सा रह चुके हैं आर अश्विन और जोस बटलर

एक और बोर्ड अधिकारी ने मांकड़िंग को पीठ पर छुरा मारने जैसा बताया। उन्होंने कहा, “इस तरह का कौशल पीठ पर छुरा मारने जैसा है। इसी वजह से इसकी (मांकड़िंग) की आलोचना हमेशा होती रहेगी। इससे आपको नतीजे जरूर मिलते हैं लेकिन आप सही तरह के मुकाबला नहीं जीतते हैं।”